Monday, July 28, 2014

RTET - Don't mix general & quota lists: HC


RTET - Don't mix general & quota lists: HC

******************************
Ye Nirnay Rajasthan High Court Ka Hai, UP Allahabad High court ka nahin,
Aur na hee ye UP ki Bhartiyon se Sambandhit hai.

*******************************

Jaipur: Giving relief to general candidates who appeared in the Rajasthan Teachers’ Eligibility Test (RTET) in 2011, Rajasthan high court has ordered not to include the reserved category candidates in the general category in 3rd grade teacher’s recruitment process.

The court has ordered that the candidates who got less than 60% in RTET should not be included in the recruitment in the general candidates’ list.


The court has also issued show cause notices to state’s principal secretary of panchayati raj department and principal secretary education and others in this matter.

The order was passed by the single bench of justice Manish Bhandari during the preliminary hearing on a petition filed by one Prerna Joshi.

RTET was conducted on June 2, 2011 and the candidates of reserved category who had got less than 60% in the test were included in the list meant for general candidates.

Petitioners informed the court that the candidates of reserved category had already been benefitted in the eligibility norms for appearing in RTET.

It was argued that if they would not have been given relaxation in the eligibility norms the reserved category candidates would not have been included in the test.

The petitioner thus demanded that since they have taken benefit under reserved category they should now not be included in the general category. RTET which was held for the first time in the state has been marred by several issues.

Initially it was slated to be held in May 2011 but it was later organised in June.

Earlier also in September 2011 , the high court had ordered the state government not to issue pass certificate to the candidates belonging to OBC category securing less than 60 per cent marks in the test.

Petitioner had that time informed the court that as per the right to education law, no relaxation can be given to reserved category candidates in pass marks as this amounted to non-compliance of section 335 of the Indian Constitution.

***************************************

About News (Views of Blog Editor ) : -After all in Rajastha Grade 3rd Teacher Recruitment rules of reservation is followed.
As per rules - Top 50% Candidates are for General category ( In which any reserved category SC/ST/OBC can come and treated as General category candidate).
And after that lower 50% candidates vacancies are filled by Reserved category (SC/ST/OBC) and No General category candidate comes in this list.
-----------
Pass marks for general Category in TET Examination is 60% and below 60% marks no GENERAL Category candidate can come.

*******************

शिक्षक भर्ती: टेट में 60% से कम अंक तो सामान्य वर्ग के पदों पर नहीं होगा चयन

जयपुर.थर्डग्रेड टीचर भर्ती (लेवल वन) में हाईकोर्ट ने सामान्य वर्ग के पदों पर आरक्षित वर्ग के उन अभ्यर्थियों के चयन व नियुक्ति पर रोक लगा दी है, जिनके आरटेट परीक्षा में साठ प्रतिशत से कम अंक थे। अदालत ने प्रमुख शिक्षा सचिव व प्रमुख पंचायत सचिव को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है।

न्यायाधीश एम.एन.भंडारी ने यह अंतरिम आदेश प्रेरणा जोशी की याचिका पर दिया। इसमें कहा गया है कि थर्ड ग्रेड टीचर भर्ती परीक्षा के लेवल वन में ऐसे अभ्यर्थियों का चयन सामान्य वर्ग में किया गया जिनके आरटेट में साठ प्रतिशत से कम अंक हैं, जबकि आरक्षित वर्ग के अभ्यर्थियों को सामान्य वर्ग में आरक्षण का लाभ नहीं दिया जा सकता।

तृतीय श्रेणी पीटीआई के लिए सीपीएड धारक ही योग्य : हाई कोर्ट

हाई कोर्ट ने तृतीय श्रेणी पीटीआई (शारीरिक शिक्षक) के लिए सीपीएड धारक अभ्यर्थियों को ही योग्य माना है। यह आदेश पीटीआई भर्ती 2008 को लेकर दिया गया है।

अदालत ने परिणाम भी नए सिरे से जारी करने के निर्देश दिए हैं। कोर्ट ने सेवा नियमों में संशोधन की 9 दिसंबर, 2011 को जारी अधिसूचना को भी इस भर्ती में मानने से इनकार कर दिया। इस अधिसूचना में सरकार ने बीपीएड व डीपीएड धारकों को भी तृतीय श्रेणी पीटीआई के लिए योग्य माना था।

न्यायाधीश एम.एन. भंडारी ने यह आदेश प्रकाशचन्द मीणा व अन्य की याचिकाओं पर दिया। आरपीएससी ने 3 सितंबर 08 को द्वितीय व तृतीय श्रेणी पीटीआई के 567 पदों के लिए आवेदन मांगे थे। ये सभी पद एससी और एसटी वर्ग के बैकलॉग के थे।
http://joinrtet.blogspot.in/2012/07/rtet-dont-mix-general-quota-lists-hc.html
http://joinrtet.blogspot.in/2012/07/60.html

29334 junior teacher vacancy in up latest news, UPTET : Allahabad ऐसे कट ऑफ जारी होने से शिक्षकों की कमी पूरा होना मुश्किल

29334 junior teacher vacancy in up latest newsUPTET : Allahabad ऐसे कट ऑफ जारी होने से शिक्षकों की कमी पूरा होना मुश्किल






29334 Junior High School Science Math Teacher Recruitment, 29334 junior teacher vacancy in up latest news, Upper Primary Teacher Recruitment UP, UPTET SARKARI NAUKRI NEWS ,  SARKARI NAUKRI

Read more:
http://naukri-recruitment-result.blogspot.com/#ixzz36cV9AUCl
 



 पहली सूची में जो बुलाए गए, उन्हें दूसरी सूची में भी मिला मौका

 पहली सूची में जो बुलाए गए, उन्हें दूसरी सूची में भी मिला मौका

भर्ती प्रकरण :
कट ऑफ सूची (विज्ञान)
कैटेगरी पहली बार दूसरी बार

सामान्य 73.25 72.95
ओबीसी 71.64 71.09
एससी 68.12 67.22
एसटी 64.40 60.931

--------------------------

कट ऑफ सूची (गणित)

कैटेगरी पहली बार दूसरी बार
सामान्य 71.74 71.06
ओबीसी 69.96 68.95
एससी 65.78 64.77
एसटी 57.74 52.86

इलाहाबाद : विशेषज्ञ शिक्षकों की खोज के लिए यदि प्रदेश भर में अभी महीनों काउंसिलिंग चलती रहे तो कोई आश्चर्य नहीं। दरअसल जिस तरह से शिक्षा महकमा कट ऑफ सूची जारी कर रहा है उससे यही आसार नजर आ रहे हैं। जिन लोगों को पहली बार काउंसिलिंग के लिए बुलाया गया था, उन्हें दूसरी सूची में फिर मौका दिया गया है। इससे पहली बार की अपेक्षा दूसरी बार में गिने-चुने युवाओं ने मास्साब बनने के लिए रुख किया है। कट ऑफ सूची की स्थिति से यह भी साफ हो रहा है कि शायद इस सत्र में स्कूलों को विशेषज्ञ शिक्षक नहीं मिल पाएंगे। 1सरकार ने प्रदेश भर के परिषदीय उच्च प्राथमिक स्कूलों में विज्ञान-गणित के शिक्षकों की कमी पूरी करने के लिए 29334 शिक्षकों की भर्ती करने का ऐलान किया था। यह पद वर्षो से खाली चल रहे थे। भर्ती की प्रक्रिया जुलाई महीने में शुरू हुई। पांच जुलाई को शासन के निर्देश पर पहला कट ऑफ जारी हुआ। दोनों विषयों में प्रदेश भर में सिर्फ प्रथम श्रेणी में पास छात्र-छात्रओं को ही मौका मिला। यह सिलसिला सिर्फ सामान्य कैटेगरी तक सीमित नहीं था, बल्कि ओबीसी, एससी व एसटी तक में फस्र्ट डिवीजनर्स का बोलबाला रहा। पहली काउंसिलिंग में पदों के सापेक्ष एक तिहाई से भी कम युवा पहुंचे, जबकि तीन गुना युवाओं को बुलाया गया था। उस समय तर्क दिया गया कि युवाओं ने कई-कई जिलों में आवेदन किया था, सभी जिलों में उनका पहुंचना संभव नहीं था, तभी कम लोग आए।


ऐसे में काउंसिलिंग के लिए दूसरा कट ऑफ बीते 20 जुलाई को जारी हुआ। इसमें दावा किया गया कि पांच गुना युवाओं को बुलाया गया है, लेकिन इस बार तो बेहद कम संख्या में अभ्यर्थी पहुंचे। इलाहाबाद में विज्ञान एवं गणित के लिए 338-338 पद थे। पहली काउंसिलिंग में यहां विज्ञान के 96 व गणित के 57 अभ्यर्थी आए थे। वहीं दूसरी बार में यह संख्या क्रमश: 11-9 रही। यानी अभी तक आधी सीटें भी नहीं भर पाई हैं।1 इसकी वजह यह है कि एक-एक युवा ने कई-कई जिलों में आवेदन किया था। उसने जिस जिले में काउंसिलिंग करा ली उसके अलावा अन्य जिलों में उसे दूसरी काउंसिलिंग में शामिल करा लिया गया। ऐसे में सीटें खाली रहना ही था। जबकि शिक्षा विभाग के अफसर यह ख्वाब पाले रहे कि दूसरी काउंसिलिंग में ही सीटें फुल हो जाएंगी। अब तीसरी काउंसिलिंग कराना मजबूरी होगी। यदि इसी तरह से मेरिट में गिरावट आई तो सारी सीटें भरने के लिए कई कट ऑफ आने की राह देखनी पड़ेगी।

उधर, बेसिक शिक्षा परिषद इलाहाबाद के सचिव संजय सिन्हा ने कहा है कि पूरे प्रदेश से विज्ञान-गणित विषय की दूसरी काउंसिलिंग की जानकारी इकट्ठा की जा रही है। जरूरत पड़ने पर तीसरी काउंसिलिंग कराई जाएगी। साथ ही जिन कमियों की ओर इंगित किया जा रहा है। वह भी तीसरी सूची में ठीक हो जाएगी। इस संबंध में कई अभ्यर्थियों ने ध्यानाकर्षण कराया है।

News Sabhaar : Amar Ujala (28.07.14)

29334 Junior High School Teacher Aspirant Group : https://www.facebook.com/groups/uptetjnrteacher

UPTET : टीईटी प्रशिक्षुआें का प्रदर्शन नियुक्ति प्रक्रिया में विलंब और गलत डाटा फीडिंग से नाराज

UPTET  : टीईटी प्रशिक्षुआें का प्रदर्शन
नियुक्ति प्रक्रिया में विलंब और गलत डाटा फीडिंग से नाराज


 






देवरिया। उत्तर प्रदेश टीईटी संघर्ष मोर्चा के पदाधिकारियों ने नियुक्ति प्रक्रिया में विलंब और डाटा फीडिंग में लापरवाही को लेकर जिलाधिकारी आवास पर प्रदर्शन किया। डीएम के जरिए मुख्यमंत्री को संबोधित पत्र दिया। साथ ही एक अगस्त तक शासनादेश जारी नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी दी।
रविवार को टीईटी अभ्यर्थियों की जुटान दिन में 10 बजे से शुरू हुई। इसके बाद जुलूस की शक्ल में नारेबाजी करते हुए डीएम आवास पहुंचे। प्रशिक्षुओं का यह जुलूस सभा में बदल गया। कार्यक्रम में अध्यक्ष ने कहा कि प्रदेश सरकार उच्चतम न्यायालय को भी धोखा दे रही है। टीईटी प्रशिक्षुआें के प्रत्यावेदन में गलत फीडिंग की जा रही है। इस मामले में लापरवाह प्राचार्यों के रवैये से न्यायालय को अवगत कराया जाएगा। उन्होंने कहा कि सरकार प्रत्यावेदन के फीडिंग के नाम पर समय बर्बाद किया जा रहा है। इस दौरान रघुवंश शुक्ला, राजीत दीक्षित, राकेश मणि, अमरदेव, सोमनाथ आदि शामिल रहे।

अभ्यर्थी बोले: हार का बदला ले रही सरकार
पूर्वांचल टीईटी संघर्ष मोर्चा की बैठक रविवार को रामगुलाम टोला स्थित कैंप कार्यालय पर हुई। इसमें टीईटी अभ्यर्थियाें ने प्रदेश सरकार के रवैये पर नाराजगी व्यक्त की। कहा कि सरकार लोकसभा चुनाव में हार का बदला ले रही है। साथ ही जल्द काउंसिलिंग प्रक्रिया शुरू करने की मांग की गई। इस दौरान पुण्डरीकाक्ष शर्मा, मनोज यादव, सुरजीत सिंह, प्रियरंजन वर्मा, फतेह बहादुर, राजन मिश्र, सतीश मिश्र आदि मौजूद रहे।


News Sabhaar : Amar Ujala (28.07.2014)

Polytechnic Admission UP, 2nd Phase Counseling Today : पॉलीटेक्निक : दूसरे चरण की चॉइस लॉकिंग आज से

Polytechnic Admission UP, 2nd Phase Counseling Today : पॉलीटेक्निक : दूसरे चरण की चॉइस लॉकिंग आज से
लखनऊ : पॉलीटेक्निक के विभिन्न ग्रुपों में दाखिले के लिए आयोजित दूसरे चरण की काउंसलिंग में चॉइस लॉकिंग सोमवार से शुरू होगी, जो 30 जुलाई तक चलेगी। रिजल्ट प्रोसेसिंग के बाद पांच अगस्त से अभ्यर्थी अपना आवंटन पत्र प्राप्त करके दाखिले के लिए फीस जमा कर सकेंगे। पॉलीटेक्निक में काउंसलिंग का दूसरा चरण 16 जुलाई से शुरू हो गया। पहले चरण की काउंसलिंग में निजी पॉलीटेक्निक कॉलेजों की सीटें बचने की बात कही जा रही है। प्रदेश भर के पॉलीटेक्निक संस्थानों में एक लाख से ज्यादा सीटें हैं। दूसरे चरण की काउंसलिंग में ऐसे अभ्यर्थी भी भाग ले सकते हैं, जिन्हें सीट का आवंटन नहीं हुआ है या फिर वो आवंटित सीट से खुश नहीं है। इस बार संयुक्त परीक्षा परिषद ने दूसरे चरण की काउंसलिंग में भाग लेने वाले अभ्यर्थियों से फीस न लेने का फैसला किया है। अभ्यर्थी पहले चरण की काउंसलिंग के लिए जारी लॉग इन और पासवर्ड की सहायता से दूसरे चरण की काउंसलिंग में भाग लेे सकेंगे। उधर,
पहले चरण की काउंसलिंग के बाद 25 जुलाई तक सभी संस्थानों को स्टूडेंट्स और खाली सीटों का ब्यौरा संयुक्त परीक्षा परिषद के पास ईमेल से भेजना था। अंतिम तिथि बीतने के बावजूद अभी तक संस्थाओं ने खाली सीटों का ब्यौरा जारी नहीं किया है। ऐसे में सवाल यह भी उठता है कि जब खाली सीटों का ब्यौरा ही उपलब्ध नहीं है तो फिर दूसरी काउंसलिंग में अभ्यर्थी किस तरह अपनी चॉइस लॉक करेंगे

Shiksha Mitra : शिक्षक बनाने के लिए शिक्षामित्रों को मिलने लगे हैं नियुक्ति पत्र

Shiksha Mitra : शिक्षक बनाने के लिए शिक्षामित्रों को मिलने लगे हैं नियुक्ति पत्र





लखनऊ : शिक्षा मित्रों को प्राइमरी स्कूलों में सहायक अध्यापक बनाने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। इन्हें नियुक्ति पत्र इस शर्त के आधार पर दिया जा रहा है कि यह हाईकोर्ट के अंतिम निर्णय के अधीन होगा। शिक्षा मित्रों को सहायक अध्यापक का वेतनमान 9300-34800 ग्रेड पे 4200 रुपये दिया जाएगा। वे एक साल तक अस्थाई शिक्षक के रूप में कार्य करेंगे। बलरामपुर जिले में नियुक्ति पत्र देने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।
राज्य सरकार ने स्नातक शिक्षा मित्रों को दूरस्थ शिक्षा के माध्यम से दो वर्षीय बीटीसी प्रशिक्षण देकर सहायक अध्यापक के पद पर नियुक्त करने का निर्णय किया है। शिक्षा मित्रों को सहायक अध्यापक के पद पर तैनाती देने का कार्यक्रम 19 जून को जारी किया गया। पहले चरण में 58,826 शिक्षा मित्रों को सहायक अध्यापक बनाया जा रहा है। अधिकतर जिलों में चयन समिति से अनुमोदन कराते हुए 31 जुलाई तक नियुक्ति पत्र दे दिया जाएगा।
बलरामपुर जिले में नियुक्ति पत्र देने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। शिक्षा मित्रों को नियुक्ति पत्र इस शर्त के साथ दी गई है कि यदि काउंसलिंग के दौरान उनके दिखाए गए प्रमाण पत्र फर्जी या कूट रचित पाए जाते हैं, तो उनका चयन स्वत: निरस्त कर दिया जाएगा। महिला शिक्षा मित्रों को विकल्प के आधार पर तथा पुरुष शिक्षा मित्रों को बंद व एकल स्कूलों में तैनाती दी रही है।

News Sabhaar : Amar Ujala (28.07.2014)
***************




LT Grade Teacher Recruitment UP : शिक्षक भर्ती के लिए परीक्षा कराने की मांग

LT Grade Teacher Recruitment UP : शिक्षक भर्ती के लिए परीक्षा कराने की मांग
 


इलाहाबाद : प्रतियोगियों ने राजकीय कालेजों में एलटी ग्रेड में शिक्षकों की भर्ती के लिए परीक्षा को आधार बनाने की मांग की है। रविवार को हुई बैठक में प्रतियोगियों का कहना था कि सरकार ने एलटी ग्रेड में 6645 तथा मॉडल स्कूलों में छह हजार से अधिक पदों पर शिक्षकों की भर्ती की घोषणा की है। उनका यह भी कहना था कि इन पदों पर एकेडमिक मेरिट के आधार पर भर्ती की व्यवस्था अपनाई जा रही है जो अभ्यर्थियों के साथ अन्याय है। उन्होंने सभी को समान अवसर दिए जाने के लिए भर्ती परीक्षा कराने की मांग की। मांग के समर्थन में टीईटी मेरिट के आधार पर प्राथमिक शिक्षकों की भर्ती का उदाहरण भी दिया। उनका कहना था कि एक ही अभ्यर्थी ने कुशीनगर में टीईटी में 85 अंक मिलने का दावा किया है तो आजमगढ़ में 129 नंबर। बैठक में सुरेंद्र, सतीश, अभिषेक, मनीष, इंद्रमणि, शेषमणि, अरविंद आदि मौजूद रहे

News Sabhaar : Amar Ujala (28.7.14)