/* remove this */ Blogger Widgets /* remove this */

Sunday, November 6, 2011

PGT, TGT Recruitment in Madhyamik Shiksha Sewa Chayan Aayog Allahabad UP

क्रॉस चेकिंग के बाद ही परीक्षा परिणाम (PGT, TGT Recruitment in Madhyamik Shiksha Sewa Chayan Aayog Allahabad UP) / MSSCB Allahabad UP


इलाहाबाद : माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड द्वारा टीजीटी व पीजीटी परीक्षा के अंतिम परिणाम की घोषणा तभी की जाएगी, जब ओएमआर शीट की क्रास चेकिंग कर ली जाएगी। भविष्य में किसी भी परीक्षा का परिणाम निकालने के पहले सही उत्तरों से ओएमआर शीट का मिलान करने के बाद ही निकाला जाएगा। यही नहीं चयन बोर्ड आगे होने वाली परीक्षाओं के एक सप्ताह के भीतर प्रश्नों के सही उत्तर बोर्ड की वेबसाइट पर जारी करेगा। उक्त आशय की घोषणा सोमवार को माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड अध्यक्ष ने पत्रकार वार्ता में की। अपने ऊपर हुए हमले के बाद सोमवार को पहली बार चयन बोर्ड में उपस्थित हुए डॉ. वर्मा ने मीडिया के समक्ष अपना पक्ष रखा। उन्होंने अपने ऊपर लगे सभी आरोपों को निराधार बताया और कहा कि क्रास चेकिंग के निर्णय में उनके द्वारा कोई व्यवधान नहीं डाला गया है। यह भ्रामक प्रचार मात्र है। क्रास चेकिंग कैसे करनी है, यह सदस्यों के ऊपर ही छोड़ दिया गया है। उन्होंने जून में हुई मारपीट की घटना के पीछे भी बोर्ड के सदस्यों डॉ. केशरी नंदन मिश्र व डॉ. सतीश दुबे का हाथ होने की बात कही। उन्होंने एफआइआर में वर्णित सभी तथ्यों को पूर्णत: सत्य बताया। साथ ही कहा कि 20 अक्टूबर को हुई घटना में काफी अधिक संख्या में अधिवक्ता थे, जिनके द्वारा दु‌र्व्यवहार किया गया उन्हें पहचाना नहीं जा सका। यह विवेचना का विषय है। उन्होंने दोनों सदस्यों द्वारा ओएमआर से क्रास चेकिंग के विरोध को खारिज कर दिया। उन्होंने बताया कि टीजीटी के शेष विषयों के साक्षात्कार की तिथि के संबंध में कलेंडर बना लिया गया है। जनवरी तक टीजीटी-पीजीटी की चयन प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी। इसे 1 नवंबर को प्रस्तावित बोर्ड की बैठक में रखा जाएगा। इसके अलावा जिन विषयों के साक्षात्कार हो चुके हैं उनके परीक्षा परिणाम क्रास चेकिंग के बाद जल्द घोषित कर दिए जाएंगे। नई रिक्तियों का विज्ञापन भी सभी जनपदों से अधियाचन मिलने के बाद जारी किया जाएगा। संस्था प्रधानों के साक्षात्कार सहित कई बिंदुओं पर एक नवंबर को प्रस्तावित बैठक में विचार होगा।माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड के अध्यक्ष ने की घोषणा, आरोपों को निराधार बताया
News Source : http://educationjungal.com/?p=9216
-------------------------------------------------------------------

फर्जी 54 शिक्षकों के खिलाफ कार्रवाई तय

इलाहाबाद। माध्यमिक स्कूलों में फर्जी तरीके से नौकरी करने वाले 54 शिक्षकों के खिलाफ कार्रवाई तय है। ये वे लोग हैं, जिन्होंने माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड का पैनल जारी हुए बिना ही न केवल नौकरी हथिया ली बल्कि वर्षों से वेतन भी ले रहे हैं। बोर्ड ने ऐसे लोगों की कुंडली तैयार कर ली है। फर्जी शिक्षकाें की यह संख्या 29 अक्टूबर तक 45 जिलों में हुई जांच की है। अन्य जिलों में जांच जारी है तथा एक नवंबर को यह प्रक्रिया पूरी होगी। ऐसे में फर्जी तरीके से शिक्षण कार्य करने वालों की संख्या और बढ़ सकती है। मंगलवार को बोर्ड की होने वाली बैठक में इनके खिलाफ कार्रवाई का प्रस्ताव भी रखा जाएगा।
लगातार मिल रही शिकायतों के बाद बोर्ड ने विगत 10 वर्षों में हुई नियुक्तियों की जांच के लिए तीन सदस्यों सतीश दुबे, केसी नंदन मिश्र और दशरथ चौधरी की कमेटी बनाई है। कमेटी की जांच में हुए इस खुलासे से पूरी चयन प्रक्रिया भी कटघरे में है। सोमवार को प्रेस से मुखातिब अध्यक्ष आरपी वर्मा ने बताया कि फर्जीवाड़े की हर स्तर पर जांच कराई जा रही है। साथ ही दोषी शिक्षकों के खिलाफ एफआईआर के लिए संबंधित जिला विद्यालय निरीक्षकों को निर्देशित किया गया है।
उन्होंने वर्तमान में जारी पीजीटी और टीजीटी की भर्तियों में धांधली के सभी आरोपों को भी बेबुनियाद बताया। भर्ती पूरी तरह से नियमों के तहत पारदर्शी तरीके से हो रही है। इसे और पारदर्शी बनाने के लिए टीजीटी-2010 के गणित, विज्ञान, कृषि संगीत, वाणिज्य, संस्कृत, गृह विज्ञान और उर्दू के रिजल्ट क्रास चेकिंग के बाद ही घोषित करने का निर्णय लिया गया है। मंगलवार को होने वाली बैठक में इसका प्रस्ताव रखा जाएगा। अध्यक्ष ने बताया तक पूरी प्रक्रिया पूरी करके जनवरी तक सभी विषयों के रिजल्ट घोषित कर दिए जाएंगे। इसके अलावा साक्षात्कार में कोडिंग व्यवस्था लागू करने, साक्षात्कार के अधिकतम एवं न्यूनतम अंक निर्धारित करने, अभ्यर्थियों को कार्बन कॉपी उपलब्ध कराने, उत्तरमाला और कटऑफ वेबसाइट पर जारी करने, अधियाचन आनलाइन करने, आनेजाने वालों पर नजर रखने के लिए परिसर में सीसी कैमरा लगाने, स्टाफ की भर्ती आदि मुद्दे भी एक नवंबर को होने वाली बैठक के एजेंडे में शामिल हैं। अध्यक्ष ने बताया कि बैठक में संस्तुति के बाद आगामी भर्ती परीक्षाओं से नई व्यवस्था लागू कर दी जाएगी। अध्यक्ष ने 20 अक्टूबर उन पर हुए हमले के बाबत बताया कि पुलिस को घटना की पूरी जानकारी दे दी गई है। आगे की कार्रवाई पुलिस को ही करनी है। उन्होंने उस घटना में दो सदस्यों के शामिल होने की बात भी कही।
-इंसेट-
अभ्यर्थियों ने बोर्ड को घेरा, नारेबाजी की
0 पीजीटी-टीजीटी परिणामों की क्रास चेंकिंग, उत्तर ऑनलाइन करने, उत्तर की कार्बन कापी देने समेत 14 सूत्रीय मांग को लेकर चयनित तथा विभिन्न भर्ती परीक्षाओं में शामिल अभ्यर्थियों ने सोमवार को माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड कार्यालय का घेराव किया। वे बोर्ड के अफसरों पर भ्रष्टाचार का भी आरोप लगा रहे थे। इसके मद्देनजर वहां पर भारी संख्या में पुलिस फोर्स तैनात कर दी गई थी तथा अभ्यर्थियों का ज्ञापन लेने से भी मना कर दिया गया। इससे नाराज अभ्यर्थियों ने अफसरों के खिलाफ नारेबाजी भी की। अखिल भारतीय छात्र सभा की इलाहाबाद विवि परिसर में हुई एक अन्य बैठक में भी भर्ती में मनमानी का आरोप लगाते हुए अध्यक्ष के प्रति नाराजगी जताई गई। प्रतियोगियों का कहना था कि बोर्ड में व्याप्त भ्रष्टाचार के कारण उनका भविष्य अंधकार में चला गया है। इसके खिलाफ पांच नवंबर को अध्यक्ष के घेराव की भी घोषणा की गई। बैठक में राजित राम, जितेंद्र शुक्ल, उमाशंकर त्रिपाठी, राम विलास विश्वकर्मा, विशेष पटेल आदि शामिल रहे।

News source : http://www2.amarujala.com/city/Allahabad/Allahabad-12212-8.html
 ----------------------------------------------

No comments: