Friday, November 9, 2012

UPTET : भर्ती में फिर फंसा पेंच न्याय विभाग ने कहा एनसीटीई से लें स्वीकृति

UPTET : Urdu Teacher भर्ती में फिर फंसा पेंच न्याय विभाग ने कहा एनसीटीई से लें स्वीकृति

उर्दू सहायक शिक्षकों की भर्ती का मामला
बेसिक शिक्षा विभाग ने न्याय विभाग से मांगी थी राय


उर्दू शिक्षकों की भर्ती में फिर फंसा पेंच
न्याय विभाग ने कहा एनसीटीई से लें स्वीकृति

लखनऊ।
प्राइमरी स्कूलों में मोअल्लिम डिग्री धारक 3480 उर्दू शिक्षकों की भर्ती में एक बार फिर पेंच फंस गया है। मोअल्लिम डिग्री धारक अभ्यर्थियों को प्राइमरी स्कूलों में सीधे सहायक शिक्षक बनाने को लेकर बेसिक शिक्षा विभाग ने न्याय विभाग से राय मांगी थी। लेकिन न्याय विभाग ने इस मामले में राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद (एनसीटीई) से स्वीकृति लेने का सुझाव देते हुए फाइल विभाग को लौटा दिया है।
मोअल्लिम-ए-उर्दू और डिप्लोमा इन उर्दू टीचिंग करने वालों के लिए टीईटी की अनिवार्यता समाप्त कर छह माह की ट्रेनिंग के बाद सीधे उर्दू सहायक शिक्षक बनाने पर सरकार विचार कर रही है। प्रदेश में वर्ष 1994-95 में प्राइमरी स्कूलों में उर्दू के सहायक अध्यापक रखे गए थे। बेसिक शिक्षा विभाग ने मोअल्लिम-ए-उर्दू और डिप्लेमा इन उर्दू टीचिंग उपाधि को इसके लिए पात्र माना था। लेकिन बाद में इन उपाधियों को अपात्र मान लिया गया। इस संबंध में मोअल्लिम-ए-उर्दू वालों ने हाईकोर्ट में याचिका दाखिल किया और सुनवाई के बाद फैसला उनके पक्ष में हुआ। राज्य सरकार ने इसके विरोध में सुप्रीम कोर्ट में विशेष अनुज्ञा याचिका (एसएलपी) दाखिल की। सुप्रीम कोर्ट में मामले की सुनवाई चल ही रही थी कि 29 जून 2011 को तत्कालीन मायावती सरकार ने एसएलपी वापस लेकर इन उपाधि धारकों को प्राइमरी स्कूलों में सहायक अध्यापक बनाने का निर्णय कर लिया। इसके लिए 1997 से पहले मोअल्लिम-ए-उर्दू और डिप्लोमा इन उर्दू टीचिंग करने वालों को पात्र माना गया। इसके आधार पर ही नवंबर 2011 में आयोजित टीईटी में इन्हें शामिल होने की अनुमति दी गई। पर मोअल्लिम-ए-उर्दू वाले टीईटी दिए बिना ही शिक्षक बनना चाहते थे। कुछ उपाधि धारक टीईटी में शामिल हुए लेकिन अधिकतर शामिल नहीं हुए। इन उपाधिधारकों ने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से मुलाकात कर टीईटी की अनिवार्यता समाप्त कर शिक्षक बनाने की मांग की। इसके बाद शासन ने सीधे मोअल्लिम-ए-उर्दू और डिप्लोमा इन उर्दू टीचिंग उपाधिधारकों को सहायक शिक्षक बनाने की कवायद में जुटा है।




http://epaper.amarujala.com/svww_zoomart.php?Artname=20121109a_006163009&ileft=129&itop=357&zoomRatio=130&AN=20121109a_006163009

36 comments:

Gaurav Yadav said...

उर्दू शिक्षकों की भर्ती में फिर फंसा पेंच
न्याय विभाग ने कहा एनसीटीई से लें स्वीकृति
•अमर उजाला ब्यूरोलखनऊ।
प्राइमरी स्कूलों में मोअल्लिम डिग्री धारक 3480 उर्दू शिक्षकों की भर्ती में एक बार फिर पेंच फंस गया है। मोअल्लिम डिग्री धारक अभ्यर्थियों को प्राइमरी स्कूलों में सीधे सहायक शिक्षक बनाने को लेकर बेसिक शिक्षा विभाग ने न्याय विभाग से राय मांगी थी। लेकिन न्यायविभाग ने इस मामले में राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षापरिषद (एनसीटीई) से स्वीकृति लेने का सुझाव देते हुए फाइल विभाग को लौटा दिया है।मोअल्लिम-ए-उर्दू और डिप्लोमा इन उर्दू टीचिंग करने वालों के लिए टीईटी की अनिवार्यता समाप्त कर छह माह की ट्रेनिंग के बाद सीधे उर्दू सहायक शिक्षक बनाने पर सरकार विचार कर रही है। प्रदेश में वर्ष 1994-95 में प्राइमरी स्कूलों में उर्दू के सहायक अध्यापक रखे गए थे। बेसिक शिक्षा विभाग ने मोअल्लिम-ए-उर्दू और डिप्लेमा इन उर्दू टीचिंग उपाधि को इसके लिए पात्र माना था। लेकिन बाद में इन उपाधियों को अपात्र मान लिया गया। इस संबंध में मोअल्लिम-ए-उर्दू वालों नेहाईकोर्ट में याचिका दाखिल किया और सुनवाई के बाद फैसला उनके पक्ष में हुआ। राज्य सरकार ने इसके विरोध में सुप्रीम कोर्ट में विशेष अनुज्ञा याचिका (एसएलपी) दाखिल की। सुप्रीम कोर्ट में मामले की सुनवाई चल ही रही थी कि 29 जून 2011 को तत्कालीन मायावती सरकार ने एसएलपी वापस लेकर इन उपाधि धारकोंको प्राइमरी स्कूलों में सहायक अध्यापक बनाने का निर्णय कर लिया। इसके लिए 1997 से पहले मोअल्लिम-ए-उर्दू और डिप्लोमा इन उर्दू टीचिंग करने वालों को पात्र माना गया। इसके आधार पर ही नवंबर 2011 में आयोजित टीईटी में इन्हें शामिल होने की अनुमति दी गई। पर मोअल्लिम-ए-उर्दू वाले टीईटी दिए बिना ही शिक्षक बनना चाहते थे। कुछउपाधि धारक टीईटी में शामिल हुए लेकिन अधिकतर शामिल नहीं हुए। इन उपाधिधारकों ने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से मुलाकात कर टीईटी की अनिवार्यता समाप्त कर शिक्षक बनाने की मांग की। इसके बाद शासन ने सीधे मोअल्लिम-ए-उर्दू और डिप्लोमा इन उर्दू टीचिंग उपाधिधारकों को सहायक शिक्षक बनाने की कवायद मेंजुटा है।उर्दू सहायक शिक्षकों की भर्ती का मामलाबेसिक शिक्षा विभाग ने न्याय विभाग से मांगी थी राय

sunil kumar tiwari sunlkmrr@gmail.com said...

TET KO MATR PATRTA PARIXA NAHIN BANANE DIYA JAYEGA CHAHE HAM HIGH COURT JAYEN SA SUPREEM COURT. N.C.T.E. KE RULE ME TET KA RE EXAMINATION DEKAR NO. ME INCREASING KE LIYE KYON KAHA GAYA HAI. KISI BHI PARIXA KA IMPORTANCE USKE COMPETATIV HONE SE HOTA HAI YANI YADI USASE YOGYATA BHI SABIT HOTI HAI.

sunil kumar tiwari sunlkmrr@gmail.com said...

टीईटी उत्तीर्ण संघर्ष मोर्चा के जिलाध्यक्ष संजय कुमार हाईकोर्ट के आदेश को बड़ी उपलब्धि मानते है। उनका कहना है कि एक वर्ष से जो अभ्यर्थी भर्ती प्रक्रिया को लेकर निराश हो चुके थे। आदेश के बाद अब उनमें नई चेतना जाग्रत हुई है। जिलाध्यक्ष का कहना है कि टीईटी की मेरिट से भर्ती करने की मांग को संगठन अपना संघर्ष जारी रखेगा। माना जा रहा है कि वर्ष-2013 का सवेरा टीईटी अभ्यर्थियों के जीवन में नया सवेरा लेकर आएगा।

Shivpratapsingh_orai said...

Please koi bhi kisi bhi tarah ki afwah (rumour) na failayen bcoz highcourt ne B.Ed and TET pass candidates k liye vigyapan nikalne k liye kaha h na ki Urdu walon k liye.
B.Ed and TET pass logon ki bharti m ab koi pench nahi reh gaya h.

Shivpratapsingh_orai said...

Please koi bhi kisi bhi tarah ki afwah (rumour) na failayen bcoz highcourt ne B.Ed and TET pass candidates k liye vigyapan nikalne k liye kaha h na ki Urdu walon k liye.
B.Ed and TET pass logon ki bharti m ab koi pench nahi reh gaya h.

ashish tiwari said...

ek sala sunil kumar tiwari hai..bhosdi wala hmesa tet ki rut lgyae rhta hai..h.s,inter..me gaand mrva rha tha sala...sale puri news post kr aadhi kyo krta hai..kutta sala

ashish tiwari said...

suneel kumar kutte...bhukna bnd kr aur blog chor kr bhaag ja sale

Puspendra said...

Bhai 90000 matlab :- b.ed+b.tc+urdu, kya sab seate b.ed wale hi kha jayege, eaisa nahi isme sab ko milakar kaha gya hai, pareshan mat ho.

Puspendra said...

India ka koi state hai jaha par tet merit k aadhar par bharti hui hai.... Nahi, ha himanchal gov ne eaisa kiya tha lekin court ne use hta diya, kyu ki ncet ki guidline me saf likha hai ye ek patrta pariksha hai, par u.p kuch log abhi bhi kalpnik jagt me ji rahe hai.

Amit verma said...

bhuko acd qualified kutto bhuko tumhare pass bhukne ke siva bacha hi kya h .Tum log high court ka decision to badal nahi sakte isiliye bhuk rahe ho....

Puspendra said...

Agar koi bhi tet supportar muche court k judgment ki authetic copy me ye dikha de ki bharti old adv par ya tet merit par hogi mai vada karta hu ki tet merit ka full support kruga lekin agar eaisa nahi kr sakte ho mere saath gunak jo ki banegi us ka support kro hai kisi me dum...

HANUMAN JI TET 66% BUT ACD SUPPOTER said...

Blog editor ji,
kyo missguide karte ho.
!!! Jai sri ram !!!

HANUMAN JI TET 66% BUT ACD SUPPOTER said...

Blog editor ji,
kyo missguide karte ho.
!!! Jai sri ram !!!

Ravinder Kumar said...

hame to lagta hai ki ye bharti varti kuch nahi ho payegi kyoki ab ye 90000 ka lolipop de raha hai so please care full.

Ravinder Kumar said...

hello dosto sayad mulayam singh ji hamre baare me kuch accha hi soch rahe hai. mugh ko to un par thoda sa yakin hai. kyoki ve hamesha se hi students ke khatir kuch na kuch karte rahe hai.

Amit verma said...

tum acd walo ko nirasha hi hath lagegi mayawati ne to tum nikammo ki bat hi nahi suni thi aur jo nikamma(akhilesh) tumhari bat sun b raha h wo chah kr b tumhari madad nahi kr payega qki hamare samvidhan me ek swatantra v nishpaksh nyaypalika ki vyavastha h jo nikammo ko naukari pane se rokti h.Hum to nahi lekin hamari sahanubhuti tumhare sath h nikammo hum aapka dukh samajh sakte h...

LAL SINGH said...

Allahabad group D ka result as gays jai To know about results call me Abhisekh Sharma
Mobile No.09136128274

LAL SINGH said...

Allahabad group D ka result as gays jai To know about results call me Abhisekh Sharma
Mobile No.09136128274

Puspendra said...

Kya kisi ne Tgt 2010 ka interview diya tha, to pls contect kro...

ashish Kumar said...

Very good dost.

Vinay kumar said...

Ha

sachin Sharma said...

Amit verma sale bhadue ki ailad....jaraa aukat me rah...tumne hamesha chappal gaanthi hain ...aur chappal hi ganthoge . Ye to arakshan ki den hai jo tum itna bol rahe ho , varna tumhari aukat bolne ki nhi hai. Ek test me theek ank lana yogyata nhi hai ,yogyta hai better acedemic graph. Ek paper me kam marks hone ke kai karan ho sakte hai, lakin total acedemic low hona admi ka boddhik label show karta hai.
Mai comment nhi karna chahta tha lakin tere badbolepan ne comment dene ko majboor kiya hai.agar aage se aisa comment tune diya to tera wo hal karunga ,jiski tu kalpana bhee nhi kar sakta.

rajeev sharma said...

BLOG EDITOR JI, PLEASE UPLOAD HIGHCOURT ORDER COPY.
MY EMAIL ID IS rsharmaiocl@gmail.com

Piyush Khatter (meerut) said...

high court ka adesh ki copy nahi milli abhi tak kya baat ha..

pundreek abhiram said...
This comment has been removed by the author.
Amit verma said...

sharma ji aarkshan ko lekar abhi se aap itna paresan mat ho tum to general kote ki jo seete h unko bachane ki socho ab hum kewal aarkshan tak seemit nahi h uske daire se bahar nikal ker tum jaise ghamadi ka ghamand choor kr rahe h tu apni aane wali aulado ki chinta kr jab tera ye hal h to unka kya hoga.

Amit verma said...

sachin bhai mujhe bade dukh ke sath ye kahna pad raha h ki tu b acd jaise nikammo ,gadho aur hijdo ka ristedar nikla .napunsak jab jawab nahi de pate to galiya hi diya karte h tu taliya b bajata hoga. mujhe tum acd qualified gadho se yahi ummeed thi.ye bilkul swabhawik h aur tumhari tathakathit yogyata ke anukul b.

Amit verma said...

aur ek bat sachin sharma ji ye loktantra h manutantra nahi.yogyata tum jaise kunthit aur bhramit logo ke pairo ki juti nahi.lekin tum ghamandiyo ko ye bat kaha hazam hogi jinhone samaj ke ek bade hisse ko apne swarth ke liye hazaro varso tak shiksha aur jeevan ki mulbhoot suvidhao se vanchit rakha.tu ek looser h.

Avinash kumar said...

amer verma ji plz tell me upper primary ka add kab tak aayaga

Avinash kumar said...

amit verma ji upper primary ka add kab tak aayaga plz tell me

Amit verma said...

avinash yar mujhe ye to nahi pata ki upper primery ka add kab tak aayega.ha lekin itna jaroor pata h ki math v science ke teachers ki 50% seats seedhi bharti se bhari jayengi.

ashish Kumar said...

Mai to chala amitwa ke sister ko lekar sone.



Good night
sachin brother.

LAL SINGH said...

Please don't use abuse it's not good a human life. So thanks

LAL SINGH said...

Uptet me janne me liy call me on Shyam Singh
Mobile no 9716919493

anurag anand said...

Merit to tet wali hi uchi hai,. Baki sapa govt jane aur uparwala.

lekin in karano se acd merit theek nahi hai-Cbse icse u.p board. Phir different universities. Nakal . Student candidate ne kab 10th etc pass kiya . Us samay ka marking pattern . Jo student candidate 10th 1995 me passout hai uske 50% aaj ke 75% ke barabar hai. Sabse bada nakal mafia - sapa sarkar hamesha.

rampal singh said...

SC/ST 50% WALE SATHIYO CHINTA KI KOI BAT NAHI H HAMARA PREYAS JARI H OR JARI RAHEGA,VESE TO HAMARA METAR 30NOV.TAK SULAJH JAYEGA. BAKI AAP SABHI TET WALON KO MERI HARDIK SHUBH KAMNAYAIN FROM....R.P.SINGH