/* remove this */ Blogger Widgets /* remove this */

Saturday, March 2, 2013

Anudeshak Recruitment in UP : संशोधित --बदली योग्यता से अनुदेशकों भर्ती पर संकट


Anudeshak Recruitment in UP : संशोधित --बदली योग्यता से अनुदेशकों भर्ती पर संकट


-वर्ष 2011 के विज्ञापन में अलग योग्यता को बनाया गया था आधार

- अस्थाई नियुक्त अनुदेशक व अन्य हाईकोर्ट की शरण में

 इलाहाबाद : प्रशिक्षु शिक्षक भर्ती के बाद अब 41,307 अंशकालिक अनुदेशकों की भर्ती पर भी संकट के बादल मंडराते नजर आ रहे हैं। प्रदेश सरकार ने इस भर्ती के लिए योग्यता के मानकों में परिवर्तन कर दिया है। इसके चलते पूर्व में अस्थाई रूप से नियुक्त अनुदेशक व इस पद के लिए प्रयासरत हजारों अन्य अभ्यर्थी भर्ती प्रक्रिया से बाहर हो गए हैं। यह सभी लगातार उच्चाधिकारियों के पास गुहार लगाते रहे पर अब तक इनकी सुनवाई नहीं हुई है। इसके चलते अब यह अभ्यर्थी उच्च न्यायालय की शरण में जा रहे हैं

प्रशिक्षु शिक्षक भर्ती के लिए सात फरवरी को शुरू हुई काउंसिलिंग उच्च न्यायालय के हस्तक्षेप के बाद पहले ही रोकी जा चुकी है। अब अनुदेशकों का मामला भी अदालत जाने को तैयार हैं। गड़बड़ी की जड़ में अनुदेशक भर्ती के लिए जारी शैक्षिक योग्यता है। इस बार जारी विज्ञापन में प्रदेश के 13769 विद्यालयों में कुल 41307 अंशकालिक अनुदेशकों की भर्ती के लिए 23 मार्च तक ऑनलाइन आवेदन मांगे गए हैं।

इस भर्ती प्रक्रिया में अनुदेशक के लिए बीएससी कृषि के साथ फल संरक्षण में डिप्लोमा होना अनिवार्य रखा गया है। इससे पूर्व 24 अगस्त 2011 को बीएसए, इलाहाबाद ने अंशकालिक अनुदेशक का जो विज्ञापन जारी किया था उसमें खाद्य एवं फल संरक्षण को एक अलग ट्रेड बनाया था। इसके लिए डिप्लोमा होना अनिवार्य था। बीएससी कृषि की बाध्यता नहीं थी।

अभ्यर्थियों के अनुसार शैक्षिक योग्यता में इस परिवर्तन से फल संरक्षण व अन्य विधाओं में डिप्लोमा करने वाले दूसरे विषयों के स्नातक छात्र वंचित हो जा रहे हैं। साथ ही पिछले वर्ष नियुक्त अंशकालिक अनुदेशकों को भी अब इसमें अवसर नहीं मिलने जा रहा है। फिलहाल, अभ्यर्थियों ने उच्चाधिकारियों द्वारा सुनवाई न होने पर उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाने का मन बनाया है। उनके अनुसार सोमवार को इस मामले में अपील फाइल हो जाएगी। इसमें उम्र सीमा भी लोक सेवा आयोग की तर्ज पर बढ़ा कर 40 वर्ष करने की मांग की जा रही है।

18 तक कराएं पंजीकरण

अभ्यर्थी 18 मार्च तक डब्ल्युडब्ल्युडब्ल्यु डॉट यूपीबेसिकइडीयूपरिषद डॉट जीओवी डॉट इन पर पंजीकरण करा सकते हैं। पंजीकरण के बाद दूसरे दिन दो बजे से चालान और उसके दो दिन बाद आवेदन किया जा सकेगा। 21 मार्च तक चालान जमा होंगे और 23 मार्च तक आवेदन स्वीकार किए जाएंगे। अभ्यर्थी को अपने ही जिले में आवेदन करने की छूट दी जा रही है।

नहीं लिया सबक

बेसिक शिक्षा परिषद ने प्रशिक्षु शिक्षक भर्ती के दौरान आई समस्या से कोई सबक नहीं लिया है। भर्ती के लिए ऑनलाइन प्रक्रिया सहज होने के बजाय मुसीबत का सबब बनती जा रही है। चालान जमा करने के लिए बैंकों में उमड़ने वाली भीड़ से बचने के लिए अभ्यर्थियों की ऑनलाइन भुगतान की मांग पर भी कोई विचार नहीं किया गया। आवेदन के लिए केवल एक वेबलिंक उपलब्ध होने के चलते दिन में कई बार वेबसाइट बंद हो जाने और सर्वर जाम की समस्या आ रही है


News Source : Jagran (Updated on: Sat, 02 Mar 2013 09:33 PM (IST))
**************************
Earlier recruited Anudeshak (previous year) is unable to apply due to change in rule, And therefore they are going to court for relief.
There job is of contractual nature.

71 comments:

  1. sunne me aa raha hai ki rejoinder ready ho chuka hai ,abhi isko lagaya jaa chuka hai ki nahi ye clear nahi hai jaise koi news milti hai aapko turant suchit kiya jaayega








    umashankar pure tet merit supporter
    9058749811
    moradabad

    ReplyDelete
  2. BOSS :-अगर मेरे हवाई जहाज़ में 50 ईंटे
    हो और मैं एक नीचे फ़ेंक दूं तो कितने बचेंगे ?

    Employee :- 49

    BOSS :-तीन वाक्य में बताओ
    कि हाथी को फ्रीज़ में कैसे रखा जाये ?

    Employee :- (1) फ्रीज़ खोलिए, (2)
    हाथी को उसमे रखिये और (3) फ्रीज़ बंद
    कर दीजिये !

    BOSS :-अब 4 वाक्य में बताओ कि हिरन
    को फ्रीज़ में कैसे रखा जाये ?

    Employee :- (1) फ्रीज़ खोलिए (2 )
    हाथी को बाहर निकालिए (3) हिरन
    को अन्दर रखिये 4)फ्रीज़ बंद कर दीजिये!

    BOSS :-आज जंगल में शेर का जन्मदिन
    मनाया जा रहा है, वहां एक को छोड़ कर
    सब जानवर मौजूद है, बताओ कौन गैरमौजूद
    है?

    Employee :- हिरन, क्योंकि वो फ्रीज़ में
    बंद है !

    BOSS :- बताओ, एक बूढी औरत मगरमच्छो से
    भरी तालाब को कैसे पार कर सकती है ?

    Employee :- बड़े आसानी से, क्योंकि सारे
    मगरमच्छ शेर के जन्मदिन के पार्टी में गए
    हैं!

    BOSS :- अच्छा आखिरी सवाल,
    वो बूढी औरत मर कैसे गयी?

    Employee :- hmmmmm ....... लगता है
    सर कि वो तालाब में फिसल
    गयी अथवा गिर गयी होगी.....
    Errrrrrrrrrrr..

    BOSS:- अबे गधे, उसके सिर पर ईंट
    लगी थी जो मैंने Airplane से फेंकी थी,
    यही problem है कि तुम अपने काम में
    जरा भी ध्यान नहीं लगाते हो और
    तुम्हारा दिमाग कही और रहता है,
    You should always be focused on
    your job ! Understand ?
    .
    .
    .
    Morel:- जितना मर्ज़ी PREPARE कर लो अगर बोस ने ठान ली है तो बो तुम्हारी बजा के रहेगा.:

    ReplyDelete
  3. Government halafnama ka jawab de
    dete h.
    Aap logo ne halafnama to pad liya
    hoga. Q1.
    Carbon copy manual check ki gayi.
    Ans 1.
    Harddisk ki janch may pata chal jata
    h ki kaun
    sa record omr machine se h or kaun
    se
    manual dala gaya h. Forensic lab
    report kyo
    nahi rakhi gaye.clear ho jata. Q2-
    kuch exam
    center ki omr ko manual check kiye.
    Ans 2-
    jawab ans 1. Q3- 74 omr sheet per
    safeda
    laga h. Ans3- safeda laganadhandali
    nahi
    court ke anusar. Ye bhi nahi bataya
    gaya ki
    safeda wale question ko number
    diye gaye ya
    nahi. Omr ki carbon copy se Milan
    kiya gaya ya
    nahi. Q4- attendance sheet ke bina
    result
    nikala gaya. Ans4- sabse bada jhoot
    or is
    point per c.b. Yadav behos hoge.
    Bina
    attendance ke kaise bataya gaya ki
    total kitne
    candidate ne exam diya. Point 2- jab
    omr ka
    packet tayyar hota h tous per
    center
    code,total candidate,prese nt
    Candidate sab
    likha jata h. Point3- center per
    candidate
    signature liye gaye. Point4- center
    per
    candidate absent sheet & packet
    docket
    tayyar kiya jata h jiske 1 sheet omr
    ke sath
    bahje jate h 1 center per rahti h 1
    board ko
    bahje jati h.Kaise bataya gaya ki
    5,96,733
    candidate ne exam diya. Q5- paper
    expert ne
    tayyar nahi kiya paper nimn star ka
    tha. Ans
    5- paper ko c.b. Yadav se Hal
    karaya jaye agar
    unhone 90 minute may 150 q Hal
    kar diye or
    90 number bhi le aaye to hum tet
    ke demand
    nahi karege. It's challeng. Q. 6- omr
    sheet
    shidhe Delhi bahje gayi.Ans 6- uptet
    ke g.o. Ke
    anusar - exam center exam ki
    jimmadaari us
    mandal ke D.M. Ki thi. Center se
    omr nirdharit
    place per police scort ke sath
    pauhchane ki
    duty D.M. Ke uper thi. Exam
    complete ki report
    D.M. Ko sasan ko bheji h. Kha h har
    mandal ke
    D.M. Ke report . Use bhi rakha jata
    sab ko pata
    chal jata ki exam may koi dhandali
    nahi hui.
    Q7- 3 sansodhan hue. Ans 7-
    sansodhancourt
    order per hue. Q8 - uptet
    sansodhan may
    kitne paas hue kitne fail hue iska
    vivran nahi.
    Ans 8- usmani report ke page 19
    per khud
    usmani ne bataya ki tet ke 6
    question per
    result may 19629 candidate pass
    hue.Urdu ke
    2 question se 8707 candidate pass
    hue. Q9-
    sansodhan ke question ke ans up
    board ke
    expert ne nahidiye. Ans 9- high
    court ne khud
    expert se vivadit Que ke ans tay
    karaye. Iska
    jawab court order may h. Check kar
    le. The
    end. Ab kya hoga koi sarkar se
    puche. Sabhi
    sansodhan prabha tripathi ke samne
    hue. Ab
    tak jail kyo nahi gaye. Or bhi
    question h jiska
    javabmang liya to sarkar ko pasina
    aa jayega.

    ReplyDelete
  4. Swadesh Kumar मयंक तिवारी जी जय टेट ,
    हलफनामा के प्रश्न ५ के सम्बन्ध मे, मै कुछ कहने की गुस्ताखी कर रहा हु कृपया ध्यान दे .
    Q5- पेपर एक्सपर्ट ने तैयार नहीं किया पेपर निम्न स्तर का था .

    इस सम्बन्ध मै एक सज्जन कोर्ट भी गए थे जिसमे कोर्ट नै उन पर
    जुरमाना भी करीब २,५०,००० का लगाया था और कहा था यह पेसा सभी टेट पास लोगो मै बाट दिया जाय. आप अपने वकील से कहकर उस
    आर्डर की कॉपी लगवाये तो वेहतर होगा .

    यह हमारी सोच है की प्रश्न ५ तो कोर्ट मै पहले ही हल हो चूका है बस उस आर्डर की कॉपी उपलब्ध हो जाये.

    यदि कुछ गलत लिखा हो तो उसके लिये क्षमा चाहता हु .

    जय टेट, जय टेट मेरिट,
    सत्यमेव जयते .

    ReplyDelete
  5. Ashish Rock Srivastava
    dosto kal maine jo 4 points bataye thhe unka bahut logo ne alag alag groups me aur mere inbox me bhi diya...
    sabhi ki baato ko mila kar mai kahena chahunga ki

    1)exam ka paper kaun banayega kaun nahi ye UP board ko decide karna tha...kaun visheshgya hai kaun nahi ye board ko hi decide karna tha...agar paper banane me koi kami thi toh wus samay koi bhi adhikari uska virodh zaroor kiya hota.sirf UP me hi TET ka exam hua nahi tha isase pahale aur bhi aur states me TET ke exam huye thhe unse bhi milaya ja sakta hai.exam ke paper ke questions patern thhe wo NCTE ke guideline ke anurup thhe.NCTE ne national level pe sabhi rajyo ke liye ek syllabus nirdharit kar rakha hai aur question usi syllabus se aaye thhe.ye koi UP board ka anual exam nahi tha jo wo apne niyam se karwata.GP ke base par UP board ek parikhsa niyamak sanstha maani gayi thi jisko parikhsa ka sanchalan 2011 ke liye karna tha.lekin ye exam NCTE ke guide line ke anurup hone thhe na ki UP board ke anurup.
    mere ek friend ne bahut achchha post kiya tha ki agar wo paper CB yadav ko dediya jaye toh wo 90mint me kabhi solve nahi kar sakte...

    2) jaha tak manual cheking ki baat hai ye pure niyam se hua...itne bade exam me kisi na kisi center pe galti hone ki sambhvna hamesha hoti hai.abhi UP ko itne jyada sankhya me expert parikshak nahi mile hai jo bina kisi galti ke pura exam karwa le...wusi manviya bhool ki wajah se bahut center me 1st ki jagah 2nd paer ki OMR baat di gayi thi..iss bhool ko sirf 2 tareeke se solve kiya jasakta tha pahala wun ladko ko fail kar diya jata(jo ki galat aur anyay hota)aur dusra ki unke copy ka manual cheking ho.
    copy ka pura mulayankan prabha tripathi ke samne hua hai.isliye wusme kisi tarah ki dhandhli ka sawal nahi ho sakta.agar kisi ko prabha tripathi ke upar shak hai toh wo apne chhote bhaai bahano ke HS inter ke marksheet faad ke fenk de kyuki...aap samjhdar hai...
    ha agar kisi ki OMR sheet first paper ki thi aur tab bhi uska mulayankan manual hua hai toh unke result rok kar unka third copy mangawa kar milaan karwana chahiye sath me parikhsha kendra ke sanchalak se puchhna chahiye ki aisa kyu hua.sarkar ne ye batane ka kasht nahi kiya ki manual cheking ki kitni copy hai?aur kya sarkar ke paas wo shashnadesh nahi thhe jo aaj fb pe lagbhag sabhi ke paas agaye hai...sarkar akhir me kisko murkh banane ki koshish kar rahi hai.

    3) attendane record yahi ek point tha jiski wajah se mai kal se ye post nahi likh pa rha tha...aaj jab anand tiwary ji se baat huyi toh unhi ke sabdo me mai likhana chahunga apne aap apko samjh me ajayega...
    "ashish bhai,,record ki koi baat nahi ban rahi jaha tak mujhe
    lagta hai... Kyoki us center ke emnr ke sign to honge na omr par...
    Ab register to ho sakta hai ki khud govt. Gayab kara diya
    ho..???"
    mere khyal se ab mujhe kuch kahene ki jarurat nahi....

    4) sarkar ka kahena hai ki jitne baar sashodhan huye hai uska koi record nahi hai...arey murkh sarkar...kya tumhare paas sach me vidwano ki kami hai?jo sansodhan huye hai wo sab online hai...kuch bhi chhupa kar nahi hua hai...agar prabha tripathi ke bayan par vishwas nahi toh khud CB yadav aur usmani ko laga diye hote sab record mil jata..
    board ke paas first result ki bhi hard disk hai aur uske baad huye sabhi sanshodhan ki alag alag hard disk hai.
    ye toh ekdm se bola gaya jhoot hai.

    dosto mere khyal se sarkar ke supp halafnama me koi dam nahi hai..sab bakwas ki batein likhi hai bina sar pair ki...dekhte hai harkoli ji kya karte hai iss halafname ka.
    bas hamare pancho advocate wus din puri tayari se maidan me utar jaye...CB yadav ko paseena na agaya toh kahiyega...kya samjh rakha tha hame gaye bhais charane wala charwaha...aise jhoot ke halafname ka kaisa hasra hoga sabhi log 4th march ko dekhiyega.

    ReplyDelete
  6. Rahul Pandey
    सरकार के काउंटर पर याची का रिज्वाइंडर कल लिखा जा चुका है बिल्कुल रोचक मुकालबा जैसे भारत-पाकिस्तान का क्रिकेट मुकालबा अब बचा है मिस्टर हिटलर और मिस्टर कानून द्वारा जबरजस्त इनकाउंटर। इस दृश्य को देखते हुए एवं दोनो पक्षों को देखते हुए और मुख्यमंत्री के रुझान को देखते हुए कह सकते हैं कि आप आज के बाद किसी भी वक्त होली खेलने का अवसर पा सकते है ऐसा मौका कल भी आ सकता है। प्रसन्नम् भव। आज के बाद किसी भी वक्त होली खेलने का अवसर पा सकते है



    आज के बाद किसी भी वक्त होली खेलने का अवसर पा सकते है




    आज के बाद किसी भी वक्त होली खेलने का अवसर पा सकते है




    आज के बाद किसी भी वक्त होली खेलने का अवसर पा सकते है
    आज के बाद किसी भी वक्त होली खेलने का अवसर पा सकते है
    v

    ReplyDelete
  7. khuto kamino machchar tumhara khooon piiiii jayega...........ye koratbazi band karo tet merit kabhi na banegi dekh lena ye bhramha ji ka kathan he...

    ReplyDelete
  8. jaikara shera wali ka ooooo meri sachiya jota wali mata teri sada hi jai ho

    ReplyDelete
  9. aaj koi bhi faisala ho lekin final kare harkauli baba...agar mera nahi hota he na sahi me master na banu na sahi tempo chala lunga auto chala lunga lekin kabhi appeel na karunga kuki isase kisi ka bhala nahi

    ReplyDelete
  10. char machar ja rahe the aik tez tarrar tha baki thode dhile dhale ....tezz tarraar machchar president ban gaya wo kahalaya tet&gunank adhyaksh....

    ReplyDelete
  11. 4 feb aa gayi nai ummid le ke, ki kuch naya hoga, lekin pata chala ki new date lag gai phir se 11 feb,phir intzar ki ghadiyan shuru hoi gai

    ReplyDelete
  12. dekho aaj kya hota hai kash! aaj aakhiri tarikh ho .............

    ReplyDelete
  13. Rajesh Pratap Singh
    Namashkar mitron,
    aaj 15 fresh aur 1 suplmntry ke bad apna case unlsted me 6 no. Par hai.
    Hamari or se 4 rejoindr kal dakhil ho jayenge.
    Kal sarkari advct hamare rejndr ko study krne ka samay mang sakta hai use milega bhi.
    Uske bad 1 ya 2 date me bahas hokr faisla a jayega.
    Moti bat ye ki jaise hame unke countr ka javab dene ko samay mila unhe hamara rejndr study krne ka samay milega uske bad bahas hogi.
    Means abhi 2-3 date ki sambhavna hai par vo lambi nahi hongi.
    Har hal me holi se pahle case decide ho jayega aur tet merit bahal ho jayegi.
    Bas thoda samay aur phir parishram ka fal.
    Frnds aj jo ye dates lag rahi hain ye hamare liye faydemand hain. kyuki sarkar ke har jhuth ka parda db me hi faas ho jayega.
    Sc jane ka vo sonch bhi nahi sakti.
    Har date ke bad hum mazboot ho rahe hain.
    Ishwar kare kal hi tet bahal ho jaye.
    So pray to God n all the best.
    Jai hind.
    tet merit zindabad.
    umashankar
    9058749811

    ReplyDelete
  14. Rajesh Pratap Singh
    Gdmrng frnds,
    filhal aisa lagta hai ki aj sunvai nahi ho payegi.
    Harkauli je absnt hain.
    Mamla dushri court me shift ho sakta hai jahan shayad hum bahas na karen kyunki is court ka mttr samjha hua hai.
    Kal lag sakta hai.
    All the best.
    9058749811

    ReplyDelete

  15. Bhaiyo harkoli g avi nahi pahuche hai c.b yadau aur hamare vakil pahuch chuke hai..court no.33 avi start nahi hai..lagbhag 12 bje hamara case chalu hone ki sambhavna hai..15 fresh aur 1 suplymentry case k bad.

    ReplyDelete
  16. Purane tetians ko tet ki khuraaq ki ati awasayakta hai. Sath hi yah khuraaq low ACD merit ke liye bhi vardaan sabit hogi.

    ReplyDelete
  17. umadev ji pls court ki latest nws de thank

    ReplyDelete
  18. please somebudy update the case status

    ReplyDelete
  19. Yash Thakur Thakur
    क्या आप जानते है
    कोर्ट न॰ 29 मे
    शशिभुषण ने टेट फेल वालो को सामिल करने का आदेश दिया था

    ReplyDelete
  20. aaj afvao ka bajar garm hai nex date kal ki hai

    ReplyDelete
  21. Shalabh Tiwari
    aaj harkauli sahab k leave pr jaane se pareshan hone ki jarurat nhi hai,,,judges ko bhi problem ho sakti hai..next date is week ki milne ki possibility hai....dont believe on rumors...apna case harkauli ji hi sunenge...v r very close to victory...

    ReplyDelete
  22. http://www.blogger.com/profile/06673720120230253914

    ReplyDelete
  23. ntelligenly, So that Other can take it Seriously.
    कृपया ध्यान रखें: अपनी राय देते समय अभद्र शब्द या भाषा का प्रयोग न करें। अभद्र शब्दों या भाषा का इस्तेमाल आपको इस साइट पर राय देने से प्रतिबंधित किए जाने का कारण बन सकता है। टिप्पणी लेखक का व्यक्तिगत विचार है और इसका संपादकीय नीति से कोई संबंध नहीं है। प्रासंगिक टिप्पणियां प्रकाशित की जाएंगी।

    ReplyDelete
  24. Ashish Rock Srivastava
    dosto kal maine jo 4 points bataye thhe unka bahut logo ne alag alag groups me aur mere inbox me bhi diya...
    sabhi ki baato ko mila kar mai kahena chahunga ki

    1)exam ka paper kaun banayega kaun nahi ye UP board ko decide karna tha...kaun visheshgya hai kaun nahi ye board ko hi decide karna tha...agar paper banane me koi kami thi toh wus samay koi bhi adhikari uska virodh zaroor kiya hota.sirf UP me hi TET ka exam hua nahi tha isase pahale aur bhi aur states me TET ke exam huye thhe unse bhi milaya ja sakta hai.exam ke paper ke questions patern thhe wo NCTE ke guideline ke anurup thhe.NCTE ne national level pe sabhi rajyo ke liye ek syllabus nirdharit kar rakha hai aur question usi syllabus se aaye thhe.ye koi UP board ka anual exam nahi tha jo wo apne niyam se karwata.GP ke base par UP board ek parikhsa niyamak sanstha maani gayi thi jisko parikhsa ka sanchalan 2011 ke liye karna tha.lekin ye exam NCTE ke guide line ke anurup hone thhe na ki UP board ke anurup.
    mere ek friend ne bahut achchha post kiya tha ki agar wo paper CB yadav ko dediya jaye toh wo 90mint me kabhi solve nahi kar sakte...

    2) jaha tak manual cheking ki baat hai ye pure niyam se hua...itne bade exam me kisi na kisi center pe galti hone ki sambhvna hamesha hoti hai.abhi UP ko itne jyada sankhya me expert parikshak nahi mile hai jo bina kisi galti ke pura exam karwa le...wusi manviya bhool ki wajah se bahut center me 1st ki jagah 2nd paer ki OMR baat di gayi thi..iss bhool ko sirf 2 tareeke se solve kiya jasakta tha pahala wun ladko ko fail kar diya jata(jo ki galat aur anyay hota)aur dusra ki unke copy ka manual cheking ho.
    copy ka pura mulayankan prabha tripathi ke samne hua hai.isliye wusme kisi tarah ki dhandhli ka sawal nahi ho sakta.agar kisi ko prabha tripathi ke upar shak hai toh wo apne chhote bhaai bahano ke HS inter ke marksheet faad ke fenk de kyuki...aap samjhdar hai...
    ha agar kisi ki OMR sheet first paper ki thi aur tab bhi uska mulayankan manual hua hai toh unke result rok kar unka third copy mangawa kar milaan karwana chahiye sath me parikhsha kendra ke sanchalak se puchhna chahiye ki aisa kyu hua.sarkar ne ye batane ka kasht nahi kiya ki manual cheking ki kitni copy hai?aur kya sarkar ke paas wo shashnadesh nahi thhe jo aaj fb pe lagbhag sabhi ke paas agaye hai...sarkar akhir me kisko murkh banane ki koshish kar rahi hai.

    3) attendane record yahi ek point tha jiski wajah se mai kal se ye post nahi likh pa rha tha...aaj jab anand tiwary ji se baat huyi toh unhi ke sabdo me mai likhana chahunga apne aap apko samjh me ajayega...
    "ashish bhai,,record ki koi baat nahi ban rahi jaha tak mujhe
    lagta hai... Kyoki us center ke emnr ke sign to honge na omr par...
    Ab register to ho sakta hai ki khud govt. Gayab kara diya
    ho..???"
    mere khyal se ab mujhe kuch kahene ki jarurat nahi....

    4) sarkar ka kahena hai ki jitne baar sashodhan huye hai uska koi record nahi hai...arey murkh sarkar...kya tumhare paas sach me vidwano ki kami hai?jo sansodhan huye hai wo sab online hai...kuch bhi chhupa kar nahi hua hai...agar prabha tripathi ke bayan par vishwas nahi toh khud CB yadav aur usmani ko laga diye hote sab record mil jata..
    board ke paas first result ki bhi hard disk hai aur uske baad huye sabhi sanshodhan ki alag alag hard disk hai.
    ye toh ekdm se bola gaya jhoot hai.

    dosto mere khyal se sarkar ke supp halafnama me koi dam nahi hai..sab bakwas ki batein likhi hai bina sar pair ki...dekhte hai harkoli ji kya karte hai iss halafname ka.
    bas hamare pancho advocate wus din puri tayari se maidan me utar jaye...CB yadav ko paseena na agaya toh kahiyega...kya samjh rakha tha hame gaye bhais charane wala charwaha...aise jhoot ke halafname ka kaisa hasra hoga sabhi log 4th march ko dekhiyega.

    ReplyDelete
  25. Ashish Rock Srivastava
    dosto kal maine jo 4 points bataye thhe unka bahut logo ne alag alag groups me aur mere inbox me bhi diya...
    sabhi ki baato ko mila kar mai kahena chahunga ki

    1)exam ka paper kaun banayega kaun nahi ye UP board ko decide karna tha...kaun visheshgya hai kaun nahi ye board ko hi decide karna tha...agar paper banane me koi kami thi toh wus samay koi bhi adhikari uska virodh zaroor kiya hota.sirf UP me hi TET ka exam hua nahi tha isase pahale aur bhi aur states me TET ke exam huye thhe unse bhi milaya ja sakta hai.exam ke paper ke questions patern thhe wo NCTE ke guideline ke anurup thhe.NCTE ne national level pe sabhi rajyo ke liye ek syllabus nirdharit kar rakha hai aur question usi syllabus se aaye thhe.ye koi UP board ka anual exam nahi tha jo wo apne niyam se karwata.GP ke base par UP board ek parikhsa niyamak sanstha maani gayi thi jisko parikhsa ka sanchalan 2011 ke liye karna tha.lekin ye exam NCTE ke guide line ke anurup hone thhe na ki UP board ke anurup.
    mere ek friend ne bahut achchha post kiya tha ki agar wo paper CB yadav ko dediya jaye toh wo 90mint me kabhi solve nahi kar sakte...

    2) jaha tak manual cheking ki baat hai ye pure niyam se hua...itne bade exam me kisi na kisi center pe galti hone ki sambhvna hamesha hoti hai.abhi UP ko itne jyada sankhya me expert parikshak nahi mile hai jo bina kisi galti ke pura exam karwa le...wusi manviya bhool ki wajah se bahut center me 1st ki jagah 2nd paer ki OMR baat di gayi thi..iss bhool ko sirf 2 tareeke se solve kiya jasakta tha pahala wun ladko ko fail kar diya jata(jo ki galat aur anyay hota)aur dusra ki unke copy ka manual cheking ho.
    copy ka pura mulayankan prabha tripathi ke samne hua hai.isliye wusme kisi tarah ki dhandhli ka sawal nahi ho sakta.agar kisi ko prabha tripathi ke upar shak hai toh wo apne chhote bhaai bahano ke HS inter ke marksheet faad ke fenk de kyuki...aap samjhdar hai...
    ha agar kisi ki OMR sheet first paper ki thi aur tab bhi uska mulayankan manual hua hai toh unke result rok kar unka third copy mangawa kar milaan karwana chahiye sath me parikhsha kendra ke sanchalak se puchhna chahiye ki aisa kyu hua.sarkar ne ye batane ka kasht nahi kiya ki manual cheking ki kitni copy hai?aur kya sarkar ke paas wo shashnadesh nahi thhe jo aaj fb pe lagbhag sabhi ke paas agaye hai...sarkar akhir me kisko murkh banane ki koshish kar rahi hai.

    3) attendane record yahi ek point tha jiski wajah se mai kal se ye post nahi likh pa rha tha...aaj jab anand tiwary ji se baat huyi toh unhi ke sabdo me mai likhana chahunga apne aap apko samjh me ajayega...
    "ashish bhai,,record ki koi baat nahi ban rahi jaha tak mujhe
    lagta hai... Kyoki us center ke emnr ke sign to honge na omr par...
    Ab register to ho sakta hai ki khud govt. Gayab kara diya
    ho..???"
    mere khyal se ab mujhe kuch kahene ki jarurat nahi....

    4) sarkar ka kahena hai ki jitne baar sashodhan huye hai uska koi record nahi hai...arey murkh sarkar...kya tumhare paas sach me vidwano ki kami hai?jo sansodhan huye hai wo sab online hai...kuch bhi chhupa kar nahi hua hai...agar prabha tripathi ke bayan par vishwas nahi toh khud CB yadav aur usmani ko laga diye hote sab record mil jata..
    board ke paas first result ki bhi hard disk hai aur uske baad huye sabhi sanshodhan ki alag alag hard disk hai.
    ye toh ekdm se bola gaya jhoot hai.

    dosto mere khyal se sarkar ke supp halafnama me koi dam nahi hai..sab bakwas ki batein likhi hai bina sar pair ki...dekhte hai harkoli ji kya karte hai iss halafname ka.
    bas hamare pancho advocate wus din puri tayari se maidan me utar jaye...CB yadav ko paseena na agaya toh kahiyega...kya samjh rakha tha hame gaye bhais charane wala charwaha...aise jhoot ke halafname ka kaisa hasra hoga sabhi log 4th march ko dekhiyega.

    ReplyDelete
  26. Ashish Rock Srivastava
    dosto kal maine jo 4 points bataye thhe unka bahut logo ne alag alag groups me aur mere inbox me bhi diya...
    sabhi ki baato ko mila kar mai kahena chahunga ki

    1)exam ka paper kaun banayega kaun nahi ye UP board ko decide karna tha...kaun visheshgya hai kaun nahi ye board ko hi decide karna tha...agar paper banane me koi kami thi toh wus samay koi bhi adhikari uska virodh zaroor kiya hota.sirf UP me hi TET ka exam hua nahi tha isase pahale aur bhi aur states me TET ke exam huye thhe unse bhi milaya ja sakta hai.exam ke paper ke questions patern thhe wo NCTE ke guideline ke anurup thhe.NCTE ne national level pe sabhi rajyo ke liye ek syllabus nirdharit kar rakha hai aur question usi syllabus se aaye thhe.ye koi UP board ka anual exam nahi tha jo wo apne niyam se karwata.GP ke base par UP board ek parikhsa niyamak sanstha maani gayi thi jisko parikhsa ka sanchalan 2011 ke liye karna tha.lekin ye exam NCTE ke guide line ke anurup hone thhe na ki UP board ke anurup.
    mere ek friend ne bahut achchha post kiya tha ki agar wo paper CB yadav ko dediya jaye toh wo 90mint me kabhi solve nahi kar sakte...

    2) jaha tak manual cheking ki baat hai ye pure niyam se hua...itne bade exam me kisi na kisi center pe galti hone ki sambhvna hamesha hoti hai.abhi UP ko itne jyada sankhya me expert parikshak nahi mile hai jo bina kisi galti ke pura exam karwa le...wusi manviya bhool ki wajah se bahut center me 1st ki jagah 2nd paer ki OMR baat di gayi thi..iss bhool ko sirf 2 tareeke se solve kiya jasakta tha pahala wun ladko ko fail kar diya jata(jo ki galat aur anyay hota)aur dusra ki unke copy ka manual cheking ho.
    copy ka pura mulayankan prabha tripathi ke samne hua hai.isliye wusme kisi tarah ki dhandhli ka sawal nahi ho sakta.agar kisi ko prabha tripathi ke upar shak hai toh wo apne chhote bhaai bahano ke HS inter ke marksheet faad ke fenk de kyuki...aap samjhdar hai...
    ha agar kisi ki OMR sheet first paper ki thi aur tab bhi uska mulayankan manual hua hai toh unke result rok kar unka third copy mangawa kar milaan karwana chahiye sath me parikhsha kendra ke sanchalak se puchhna chahiye ki aisa kyu hua.sarkar ne ye batane ka kasht nahi kiya ki manual cheking ki kitni copy hai?aur kya sarkar ke paas wo shashnadesh nahi thhe jo aaj fb pe lagbhag sabhi ke paas agaye hai...sarkar akhir me kisko murkh banane ki koshish kar rahi hai.

    3) attendane record yahi ek point tha jiski wajah se mai kal se ye post nahi likh pa rha tha...aaj jab anand tiwary ji se baat huyi toh unhi ke sabdo me mai likhana chahunga apne aap apko samjh me ajayega...
    "ashish bhai,,record ki koi baat nahi ban rahi jaha tak mujhe
    lagta hai... Kyoki us center ke emnr ke sign to honge na omr par...
    Ab register to ho sakta hai ki khud govt. Gayab kara diya
    ho..???"
    mere khyal se ab mujhe kuch kahene ki jarurat nahi....

    4) sarkar ka kahena hai ki jitne baar sashodhan huye hai uska koi record nahi hai...arey murkh sarkar...kya tumhare paas sach me vidwano ki kami hai?jo sansodhan huye hai wo sab online hai...kuch bhi chhupa kar nahi hua hai...agar prabha tripathi ke bayan par vishwas nahi toh khud CB yadav aur usmani ko laga diye hote sab record mil jata..
    board ke paas first result ki bhi hard disk hai aur uske baad huye sabhi sanshodhan ki alag alag hard disk hai.
    ye toh ekdm se bola gaya jhoot hai.

    dosto mere khyal se sarkar ke supp halafnama me koi dam nahi hai..sab bakwas ki batein likhi hai bina sar pair ki...dekhte hai harkoli ji kya karte hai iss halafname ka.
    bas hamare pancho advocate wus din puri tayari se maidan me utar jaye...CB yadav ko paseena na agaya toh kahiyega...kya samjh rakha tha hame gaye bhais charane wala charwaha...aise jhoot ke halafname ka kaisa hasra hoga sabhi log 4th march ko dekhiyega.

    ReplyDelete
  27. <Ashish Rock Srivastava
    dosto kal maine jo 4 points bataye thhe unka bahut logo ne alag alag groups me aur mere inbox me bhi diya...
    sabhi ki baato ko mila kar mai kahena chahunga ki

    1)exam ka paper kaun banayega kaun nahi ye UP board ko decide karna tha...kaun visheshgya hai kaun nahi ye board ko hi decide karna tha...agar paper banane me koi kami thi toh wus samay koi bhi adhikari uska virodh zaroor kiya hota.sirf UP me hi TET ka exam hua nahi tha isase pahale aur bhi aur states me TET ke exam huye thhe unse bhi milaya ja sakta hai.exam ke paper ke questions patern thhe wo NCTE ke guideline ke anurup thhe.NCTE ne national level pe sabhi rajyo ke liye ek syllabus nirdharit kar rakha hai aur question usi syllabus se aaye thhe.ye koi UP board ka anual exam nahi tha jo wo apne niyam se karwata.GP ke base par UP board ek parikhsa niyamak sanstha maani gayi thi jisko parikhsa ka sanchalan 2011 ke liye karna tha.lekin ye exam NCTE ke guide line ke anurup hone thhe na ki UP board ke anurup.
    mere ek friend ne bahut achchha post kiya tha ki agar wo paper CB yadav ko dediya jaye toh wo 90mint me kabhi solve nahi kar sakte...

    2) jaha tak manual cheking ki baat hai ye pure niyam se hua...itne bade exam me kisi na kisi center pe galti hone ki sambhvna hamesha hoti hai.abhi UP ko itne jyada sankhya me expert parikshak nahi mile hai jo bina kisi galti ke pura exam karwa le...wusi manviya bhool ki wajah se bahut center me 1st ki jagah 2nd paer ki OMR baat di gayi thi..iss bhool ko sirf 2 tareeke se solve kiya jasakta tha pahala wun ladko ko fail kar diya jata(jo ki galat aur anyay hota)aur dusra ki unke copy ka manual cheking ho.
    copy ka pura mulayankan prabha tripathi ke samne hua hai.isliye wusme kisi tarah ki dhandhli ka sawal nahi ho sakta.agar kisi ko prabha tripathi ke upar shak hai toh wo apne chhote bhaai bahano ke HS inter ke marksheet faad ke fenk de kyuki...aap samjhdar hai...
    ha agar kisi ki OMR sheet first paper ki thi aur tab bhi uska mulayankan manual hua hai toh unke result rok kar unka third copy mangawa kar milaan karwana chahiye sath me parikhsha kendra ke sanchalak se puchhna chahiye ki aisa kyu hua.sarkar ne ye batane ka kasht nahi kiya ki manual cheking ki kitni copy hai?aur kya sarkar ke paas wo shashnadesh nahi thhe jo aaj fb pe lagbhag sabhi ke paas agaye hai...sarkar akhir me kisko murkh banane ki koshish kar rahi hai.

    3) attendane record yahi ek point tha jiski wajah se mai kal se ye post nahi likh pa rha tha...aaj jab anand tiwary ji se baat huyi toh unhi ke sabdo me mai likhana chahunga apne aap apko samjh me ajayega...
    "ashish bhai,,record ki koi baat nahi ban rahi jaha tak mujhe
    lagta hai... Kyoki us center ke emnr ke sign to honge na omr par...
    Ab register to ho sakta hai ki khud govt. Gayab kara diya
    ho..???"
    mere khyal se ab mujhe kuch kahene ki jarurat nahi....

    4) sarkar ka kahena hai ki jitne baar sashodhan huye hai uska koi record nahi hai...arey murkh sarkar...kya tumhare paas sach me vidwano ki kami hai?jo sansodhan huye hai wo sab online hai...kuch bhi chhupa kar nahi hua hai...agar prabha tripathi ke bayan par vishwas nahi toh khud CB yadav aur usmani ko laga diye hote sab record mil jata..
    board ke paas first result ki bhi hard disk hai aur uske baad huye sabhi sanshodhan ki alag alag hard disk hai.
    ye toh ekdm se bola gaya jhoot hai.

    dosto mere khyal se sarkar ke supp halafnama me koi dam nahi hai..sab bakwas ki batein likhi hai bina sar pair ki...dekhte hai harkoli ji kya karte hai iss halafname ka.
    bas hamare pancho advocate wus din puri tayari se maidan me utar jaye...CB yadav ko paseena na agaya toh kahiyega...kya samjh rakha tha hame gaye bhais charane wala charwaha...aise jhoot ke halafname ka kaisa hasra hoga sabhi log 4th march ko dekhiyega

    ReplyDelete
  28. भर्ती पर लगा रहे गा रोक
    केवल गुणांक धारी के लिये
    टेट मेरिट के लिये 100 तारिख भी लिया जायेगा तो भी कम है
    तुम लोग कही नया काम देख लो

    ReplyDelete
  29. संता (प्रीतो से)- मैं तुमसे शादी करना चाहता हूं।
    प्रीतो (संता से) - पर मैं तुमसे बड़ी हूं। पूरे एक साल।
    संता- कोई बात नहीं। मैं एक साल बाद शादी कर लूंगा।

    महिला (थर्मामीटर गलत पढ़कर फोन पर)- डॉक्टर साहब, कृपया जल्दी आइये। मेरे पति का टेम्परेचर 120 है।
    डॉक्टर- अगर ऐसा है तो फिर मेरा काम नहीं! आप फायर ब्रिगेड को फोन कीजिये।

    ReplyDelete
  30. umadev ji court ki update news de please because logo ne bahut afawah faila rakhi hai

    ReplyDelete
  31. एक आदमी अपने दोस्त के घर गया डोरबेल बजाई ..
    डिंग डोंग. टिंग टोंग
    एक बच्चा बाहर आया
    आदमी- बेटा पापा घर पर हैं?
    बच्चा- अंकल पापा तो बाजार गए हैं!
    आदमी- चलो बड़े भाई को बुला दो?
    बच्चा- जी वो क्त्रिकेट खेलने गया है!
    आदमी- बेटा मम्मी तो होंगी घर पर?
    बच्चा- जी वो किट्टी पार्टी में गई हैं!
    आदमी गुस्से में- तो बेटा तुम घर पर क्यों बैठे हुए हो तुम भी कहीं चले जाओ।
    बच्चा- जी मैं भी तो अपने दोस्त के घर आया हुआ हूं!

    एक बार एक आदमी अपने घर के पीछे पेड़ लगाने कि लिए गढ्ढा खोद रहा था कोई 2 फुट खोदने के बाद उसे एक दीपक मिला उसने उसे बाहर निकाला और उसे साफ करने लगा अचानक ही उससे एक जिन्न प्रकट हो गया और कहने लगा मैं तुम्हारी तीन इच्छाएं पूरी कर सकता हूं!
    उस आदमी ने कहा ये तो बहुत अच्छा है!
    जिन्न ने कहा तुम मुझे पहले ये बताओ तुम सबसे च्यादा नफरत किससे करते हो, उस आदमी ने कहा कि मैं अपने पड़ोस में रहने वाले वकील से सबसे च्यादा नफरत करता हूं जिन्न ने कहा देखो तुम्हारी जो भी तीन इच्छाएं होगी या जो भी तुम मांगोगे वकील को उसका दुगना मिलेगा!
    उस आदमी ने जल्दबाजी में जिन्न से कहा कि उसे 1 करोड़ रूपए दे दो जिन्न ने कहा ठीक है पर वकील को दो करोड़ मिलेंगे!
    उस आदमी ने अपनी दूसरी इच्छा भी जल्द ही मांग ली उसने जिन्न से कहा कि उसे एक बहुत बड़ा बंगला नौकरों के साथ चाहिए जिन्न ने कहा मिल जायेगा पर वकील को दो बंगले मिलेंगे वो भी नौकरों के साथ!
    अब उस आदमी कि आखिरी इच्छा बची थी उस आदमी ने सोचा कि मैं जो भी मांग रहा हूँ वकील को उसका दुगना मिल रहा है बड़े सोच विचार के बाद उसने जिन्न से कहा कि मेरी आखिरी इच्छा ये है कि आप मुझे मार-मार कर अधमरा कर दो!

    ReplyDelete
  32. जिमी एक मनोचिकित्सक के पास गया उसने कहा डॉक्टर मैं बहुत मुसीबत में हूं मैं जब भी बिस्तर पर जाता हूं मुझे ऐसा लगता है जैसे कोई बिस्तर के नीचे है मैं तो पागल ही हो जाता हूं!
    मनोचिकित्सक ने कहा तुम एक साल तक अपने आप को मेरे हवाले कर दो एक हफ्ते में तीन बार मेरे पास आया करो और मैं तुम्हारे डर को दूर कर दूंगा!
    सर आपकी फीस कितनी है?
    एक बार की 500 रुपये। क्चक्त्र> कोई बात नहीं मैं उस पर ही सो जाऊंगा, जिमी ने कहा!
    6 महीने बाद वही डॉक्टर जिमी को एक गली में मिला मनोचिकित्सक ने पूछा, तुम उसके बाद मुझसे मिलने क्यों नहीं आये?
    जिमी ने कहा, अरे आपकी फीस एक बार की 500 रुपये थी, जब की बढ़ई ने सिर्फ 50 रुपये ही मुझे ठीक कर दिया!
    ऐसा कैसे हुआ!
    उसने पलंग की टांगे काट दी, अब उसके नीचे कोई कैसे रहेगा!

    ReplyDelete
  33. एक तीन साल का बच्चा हॉस्पिटल के बाहर बैठा अपनी मां का इन्तजार कर रहा था जो अंदर डाक्टर के पास गयी थी, तभी एक गर्भवती महिला वहां आयी!
    बच्चे ने बड़ी उत्सुकता से उस महिला को पूछा, आपका पेट इतना बड़ा क्यों है? उसने कहा मेरे पेट में बच्चा है!
    उसने हैरानी से कहा क्या आपके पेट में बच्चा है?
    उसने कहा हां बिलकुल!
    तब छोटे से बच्चे ने बड़ी उलझन के साथ कहा, क्या यह असली बच्चा है?
    उसने कहा, हां बिलकुल, ये असली बच्चा है!
    फिर उसने हैरानी और चौंकते हुए उसकी तरफ देखते हुए कहा, फिर तुमने इसे क्यों खाया?

    ReplyDelete
  34. एक नवविवाहित जोड़ा शादी के बाद रहने के लिए शहर में आया!
    वहां उन्होंने एक कमरा लिया और नए पड़ोसियों के साथ रहने लगे, एक सुबह महिला ने देखा कि उनकी पड़ोसन ने कपड़े धोकर बाहर सुखाने के लिए डाले है!
    उसने कपड़ों की तरफ देखा और कहा, लगता है इसे कपड़े साफ करना नही आते देखो कितने गंदे रखे हैं, उसे कपड़े धोने का अच्छा साबुन इस्तेमाल करना चाहिए?
    उसके पति ने भी देखा और उस वक्त चुप ही रहा!
    इसके बाद लगातार दो तीन सप्ताह तक वह महिला उसी प्रकार उस महिला के बारे में बोलती रही! फिर एक महीने बाद एक सुबह जब महिला ने देखा तो हैरानी के साथ अपने पति से कहने लगी, देखो लगता है आज इसने अच्छे साबुन का इस्तेमाल किया है और अब इसे कपड़े धोने भी आ गए है, मुझे हैरानी है कि इसे ये सब किसने सिखाया होगा?
    उसके पति ने कहा आज सुबह मैं जल्दी उठ गया था और मैंने अपने कमरे की खिड़कियां साफ की है!

    ReplyDelete
  35. एक बार गणित के शिक्षक ने पप्पू को बुलाया और अपनी कापी चेक कराने के लिए कहा।
    पप्पू- मास्टरजी मैंने तो होमवर्क किया ही नहीं।
    मास्टर- तुम्हारा तो पढने में मन ही नहीं लगता, अब बताओ की होमवर्क ना करने का तुम्हारे पास क्या बहाना है?
    पप्पू- जी मास्टर जी वो कल आपने जो गुणा-भाग समझाया था ना वो मुझे समझ नहीं आया।
    मास्टर- नालायक तुम्हें वह सामान्य सा गुणा-भाग समझ नहीं आया, मैं जब तुम्हारी उम्र का था तो 15-15 अंकों वाला गुणा-भाग चुटकियों में कर देता था।
    पप्पू- कर देते होंगे मास्टर जी, क्योंकि आपको पक्का कोई अच्छा टीचर पढ़ाता होगे।

    ReplyDelete
  36. पति-पत्नी में झगड़ा हो रहा था।
    पति- अब अगर तुमने एक शब्द भी और कहा तो मेरे अंदर का जानवर जाग जायेगा!
    पत्नी- ठीक है, ठीक है तुम्हारे अंदर जो जानवर बैठा है उसे जाग जाने दो भला चूहे से भी कोई डरता है . !!!

    एक कंजूस आदमी का बेटा अपनी गर्लफे्रंड के साथ घूमने गया।
    लौटकर आया तो कंजूस ने पूछा- कितने रुपए उड़ा आए?
    बेटा- ढाई सौ।
    यह सुनकर कंजूस नाराज होकर गालियां देने लगा।
    बेटा- और क्या करता बापू.. उसके पास इतने ही थे?

    ReplyDelete
  37. एक बार संता की प्रेमिका ने संता से बड़े ही रूमानी अंदाज में कहा।
    प्रेमिका- जानू एक बात पूछूं तो क्या तुम उसका सही-सही जवाब दोगे?
    संता- हां-हां पूछो।
    प्रेमिका- अच्छा तो बताओ, अगर जोडि़यां स्वर्ग में बनती हैं तो शादी भी वहीं क्यों नहीं हो जाती?
    संता कुछ देर सोचता रहा और बोला, अरे बेवकूफ अगर वहां भी शादियां होने लगीं तो स्वर्ग, नर्क नहीं बन जाएगा क्या?

    एक डॉक्टर की रात को अचानक नींद खुली, उसने देखा की उसका टॉयलेट पूरी तरह से ब्लाकहो गया है!
    उसने अपनी पत्नी से कहा मैं अभी पलम्बर को बुलाता हूं!
    पत्नी ने कहा तुम पलम्बर को रात को तीन बजे मत बुलाओ!
    मैं तो बुलाऊंगा हम भी तो जाते हैं रात को अगर कोई मरीज बीमार हो जाये!
    उसने पलम्बर को फोन किया उसने शिकायत की और पलम्बर को रात को आने को कहा!
    डॉक्टर ने फिर से वही बात कही अगर मैं रात को मरीज देखने जा सकता हूं तो तुम क्यों नहीं आ सकते?
    कोई 3:30 बजे पलम्बर आंखों को मसलता हुआ पहुंचा डॉक्टर ने उसे ब्लाक टॉयलेट दिखाया!
    पलम्बर बाहर गया वहां कुछ टैबलेट पड़ी थी उसने दो उठाई टॉयलेट में डाली और डॉक्टर से कहा!
    अगर कोई फर्क नहीं पड़ा तो सुबह फिर से मुझे कॉल करना!

    ReplyDelete
  38. जज- तुम्हारी शिकायत है कि तुम्हारी पत्नी तुम्हारे ऊपर बर्तन फेंकती है?
    पति- जी जज साहब।
    जज- कितने दिन से फेंकती है?
    पति- साहब जब से शादी हुई है तब से।
    जज- और तुम्हारी शादी को कितने साल हो गए हैं?
    पति- जी पांच साल।
    जज- तो तुमने पिछले पांच सालों में शिकायत क्यों नहीं की?
    पति- जी क्योंकि कल पहली बार उसका निशाना बराबर लगा है।

    एक बाप अपने बेटे कि शरारतों से बहुत परेशान था, उसका बेटा हमेशा कम्प्यूटर पर गेम खेलता रहता था!
    एक दिन पढ़ाई व होमवर्क करने के लिए उसे प्रेरित करते हुए उसके बाप ने कहा जब अब्राहम लिंकन तुम्हारी उम्र के थे तो वो लकडि़यों की आग जला कर उसके सामने पढ़ाई किया करते थे!
    बच्चे ने जवाब दिया, पर जब लिंकन आपकी उम्र के थे तो यूनाईटेड स्टेटस के राष्ट्रपति थे!

    एक बार बंटू को सिर में चोट लग गयी तो उसे लहुलुहान हालत में अस्पताल लाया गया जो देख कर भर्ती काउंटर पर खड़े डॉक्टर ने उस से चंद सवाल पूछने शुरू किये।
    डॉक्टर- नाम?
    बंटू - जी बंटू ।
    डॉक्टर- पिता का नाम?
    बंटू - करनैल।
    डॉक्टर- जन्म की तारीख?
    बंटू - 1 मार्च।
    डॉक्टर- शादीशुदा?
    बंटू - जी नहीं, कार एक्सीडेंट।

    ReplyDelete
  39. एक चोर तेजी से दौड़ता हुआ गली पर खडे़ एक सिपाही से टकरा गया सिपाही ने उसे डांटते हुए पूछा -कौन है?
    पहले चोर घबरा गया, फिर भागते हुए बोला- चोर..
    सिपाही ने उसे भागते हुए देखकर हंसते हुए कहा- बड़ा पागल आदमी है पुलिस से मजाक करता है।

    नासा ने संता को चांद पर भेजने का फैसला किया।
    मगर संता आधे रास्ते से ही वापस आ गया।
    संता ने कहा आज तो अमावस है ना, चांद तो होगा ही नहीं।

    अध्यापिका बच्चों से पूछती हैं, बताओ सबसे ज्यादा बारिश कहां पर गिरती है।
    चिंटू- थोड़ी देर सोचने के बाद कहता है, मैडम जमीन पर।

    एक पागल आइना देखकर सोचने लगा इसको कहीं देखा है।
    थोड़ी देर सोचने के बाद..
    ओह तेरी ये तो वही है..
    जो मेरे साथ उस दिन बाल कटवा रहा था।

    ReplyDelete
  40. साहित्य प्रेमी दूल्हा सुहागरात को अपनी दुल्हन से बोला - प्रिय, आज से तुम ही मेरी कविता हो , भावना हो, कामना हो..
    दुल्हन ने यह सुनकर दूल्हे से कहा- मेरे लिए भी आज से तुम ही मेरे मुकेश हो, सुरेश हो, रमेश हो..

    ReplyDelete
  41. एक बुढि़या सिनेमा हॉल में कोल्ड ड्रिंक कि बोतल लेकर बैठी थी, कभी 15 मिनट में मुंह को लगाती तो कभी 20 मिनट में, पास बैठे पठान सिंह को गुस्सा आ गया, उसने बुढि़या से बोतल छीनी और पूरी 1 घूंट में पीकर बोला- ऐसे पीते हैं।
    बुढि़या बोली- पर बेटा मैं तो पान थूक रही थी।

    पहली सहेली- मेरा ब्वॉयफ्रेंड चाहता है कि मैं जैसी हूं वैसी ही रहूं।
    दूसरी सहेली- कैसी?
    पहली- अनमैरेड।

    पत्नी (पति से)- बताओं तुम्हें मैं कितनी अच्छी लगती हूं।
    पति (पत्नी से)- बहुत ज्यादा
    पत्नी- फिर भी कितनी
    पति- इतनी की दिल चाहता है तुम्हारी जैसी एक और ले आऊं।

    ReplyDelete
  42. संता (बंता से)- मैं समझ नहीं पा रहा हूं कि अपनी वेडिंग एनीवर्सरी में पत्नी के लिए क्या खरीदूं।
    बंता (संता से)- तुम अपनी पत्नी से ही क्यों नहीं पूछ लेते हो कि उसे क्या चाहिए।
    संता- मैं उतना अधिक खर्च करना नहीं चाहता।

    रमेश- मुझे अपनी पत्नी से दूसरी नजर में ही प्यार हो गया था।
    मोहन- पहली नजर में क्यों नहीं?
    रमेश- क्योंकि मेरी पहली नजर उसके हीरों के हार पर नहीं पड़ी थी।

    डॉक्टर (बेहोश मरीज को देखकर)- यह तो मर गया है।
    मरीज (होश में आकर)- मैं तो जीवित हूं।
    मरीज की पत्‍‌नी (मरीज पति से)- कुछ तो सोच समझकर बोला कीजिये। इतने बड़े डॉक्टर हैं, झूठ बोलेंगे क्या?

    जज, तुम्हें पांच मिनट बाद फांसी दी जाएगी। तुम अपनी आखिरी इच्छा बताओ जरूर पूरी की जाएगी।
    कैदी, बस, एक ही इच्छा है-शरीफा खाने की। जज, लेकिन, अभी तो शरीफा का मौसम नहीं है।
    कैदी, सर, मैं इंतजार कर लूंगा।

    ReplyDelete
  43. डिस्ट्रिक्ट कोर्ट के सामने एक बोर्ड पर लिखा हुआ था, लेटर्स टाइप इन थ्री लैंग्वेजेज।
    कुछ दिन बाद वहीं एक दुकान पर काफी बड़े बैनर पर लिखा हुआ था, फोटोस्टेट कॉपीज प्रिपेअर्ड इन आल लैंग्वेजेज।

    संता (दुकानदार से)- तुमने मुझे धोखा दिया है।
    दुकानदार- नहीं साहब मैंने आपको अच्छी क्वालिटी का रेडियो दिया है।
    संता- इसपे लिखा है मेड इन जापान लेकिन चालू करो तो बोलता है ऑल इंडिया रेडियो।

    एक मनोचिकित्सक जब अपने क्लीनिक पहुंचा तो उसने वहां दो मरीजों को पाया। एक छत से उल्टा लटका हुआ था जबकि दूसरा ऐसा अभिनय कर रहा था कि जैसे वह कुल्हाड़ी से लकडि़यां काट रहा हो।
    डॉक्टर ने अभिनय करने वाले से पूछा - यह आदमी उल्टा क्यों लटका हुआ है ?
    उसने हंसते हुए बताया - वह बेवकूफ समझता है कि वह बल्ब है।
    डॉक्टर बोला- तुम उसे फौरन नीचे उतारो।
    आदमी- उसे नीचे उतार दूं तो फिर मैं क्या अंधेरे में लकडि़यां काटूंगा..?

    ReplyDelete
  44. पत्नी (पति से)- जानू, काश आप मैसेज होते.. मैं आपको सेव करती और जब चाहे पढ़ती!
    पति (पत्नी से)- तुम कंजूस की कंजूस ही रहोगी.. ये नही कि मुझे अपनी सभी सहेलियों को फॉरवर्ड करतीं..!!!

    अध्यापक- ए बी सी सुनाओ.
    चिंटू- ए बी सी
    टीचर- और सुनाओ.
    चिंटू- और अल्लाह का शुक्र है, सब ठीक-ठाक है।
    आप सुनाओ..???

    एक आदमी तेजी से डॉक्टर के केबिन में घुसा और बोला - डॉक्टर साहब, मेरी बीवी ने पेट्रोल पी लिया है और अब वह पूरे घर में दौड़ लगा रही है!
    डॉक्टर - घबराओ मत, जब पेट्रोल खत्म हो जायेगा तो खुद-ब-खुद रुक जाएगी।

    मरीज- सच-सच बताइये डॉक्टर साहब, मेरे बचने की कितनी सम्भावना है?
    डॉक्टर- सौ प्रतिशत! आंकड़े बताते हैं कि इस रोग में दस में से नौ आदमी मरते हैं और मेरे दस मरीजों में से नौ मर चुके हैं। तुम दसवें हो!

    ReplyDelete
  45. भिखारी- अल्लाह के नाम पे कुछ दे दो !
    मुन्नी - 100 के छुट्टे हैं बाबा?
    भिखारी - हां हैं।
    मुन्नी - तो जाकर पहले इन्हें खर्च कर ले !!!

    पत्नी (पति से)- चलो मैं छुपती हूं तुम मुझे ढूंढना। अगर ढूंढ लिया तो हम शॉपिंग चलेंगे।
    पति (पत्नी से)- अगर नही ढूंढा तो?
    पत्नी- ऐसा मत कहो ना जानू मैं दरवाजे के पीछे ही छिपूंगी।

    लोग कहते हैं की खुदा ने आपको बड़ी फुर्सत में बनाया है।
    ठीक ही कहते हैं, फालतू काम फुर्सत में ही तो किए जाते हैं।

    संता- यार तूने कभी सोचा है कि अस्पताल में ऑपरेशन से पहले मरीज को बेहोश क्यों किया जाता है?
    बंता- अगर बेहोश नहीं किया और मरीज ने ऑपरेशन करना सीख लिया तो डॉक्टर के धंधे की तो वाट लग जाएगी।

    ReplyDelete
  46. प्रेमी (प्रेमिका से)- रीमा, प्लीज मुझसे शादी के लिए हां कर दो ना, मैं तुम्हारी हर छोटी-छोटी इच्छाओं को पूरी करूंगा।
    प्रेमिका- ये सब तो ठीक है, परंतु मेरी उन बड़ी इच्छाओं का क्या होगा?

    संता के घर एक बिल्ली रहती थी जिससे वह बहुत परेशान था। एक दिन संता उससे तंग आकर कहीं छोड़कर आ गया पर संता के घर पहुंचने से पहले बिल्ली घर पहुंच गई।
    संता दोबारा उसको बाहर छोड़कर आया पर वह फिर से घर पर वापस आ गई। संता को बहुत गुस्सा आ गया और इस बार उसने बिल्ली को बहुत दूर छोड़ दिया। फिर थोड़ी देर बाद अपनी बीवी को फोन किया और पूछा कि क्या बिल्ली घर आ गई है।
    बीवी- हां, वह पहुंच गई है।
    संता- उससे बोल मुझे आकर ले जाए, मैं रास्ता भूल गया हूं।

    ReplyDelete
  47. पति (पत्‍‌नी से)- अरे, सुनती हो, डाक्टरों का कहना है कि अधिक बोलने से उम्र काफी कम हो जाती है।
    पत्‍‌नी (मुस्कुराकर)- अब तो तुमको विश्वास हो गया ना कि मेरी उम्र पैंतालीस से घटकर पच्चीस कैसे हो गयी।

    साइंस टीचर- जब कभी किसी लड़की को मिर्गी के दौरे आएं तो उसे लंबे समय तक किस करो वो सही हो जाएगी।
    छात्र- वो सब तो ठीक है सर, पर यह बताओ कि उसे यह दौरे दिलाएं कैसे?

    बच्चा- मम्मी मैं कल से स्कूल नहीं जाऊंगा।
    मम्मी- क्यों बेटा ऐसी क्या बात हो गयी?
    बच्चा- मम्मी आज स्कूल में हम सभी बच्चों का वजन किया गया था।
    मम्मी- तो क्या हुआ?
    बच्चा- मुझे डर है कि अगर रेट अच्छा मिल गया तो ये स्कूल वाले हमें बेच ही ना दें।

    ReplyDelete
  48. ग्राहक (दुकानदार से)- भाई साहब, इस कपड़े का क्या रेट है?
    दुकानदार- 50 रुपये मीटर
    ग्राहक- 40 रुपये मीटर देना है?
    दुकानदार- साहब, इतना तो घर में पड़ता है।
    ग्राहक- अच्छा तो हम आपके घर से ले लेंगे।

    डॉक्टर- तुम कौन-सा साबुन इस्तेमाल करते हो?
    मरीज- बजरंग का साबुन।
    डॉक्टर- पेस्ट?
    मरीज- बजरंग का पेस्ट?
    डॉक्टर- शैम्पू
    मरीज- बजरंग का शैम्पू?
    डॉक्टर- ये बजरंग कहां की कंपनी है?
    मरीज- बजरंग मेरा रूम मेट है।

    अध्यापक (छात्र से)- जिस आदमी के दोनों हाथ न हो उसे हिंदी और इंग्लिश में क्या कहेंगे?
    छात्र- हिंदी में ठाकुर और इंग्लिश में हैंडस फ्री!

    ReplyDelete
  49. पत्नी (पति से)- डार्रि्लग क्या मैं तुम्हारे सपनों में आती हूं?
    पति (पत्नी से)- नहीं
    पत्नी- क्यों नहीं?
    पति- क्योंकि मैं हनुमान चालीसा पढ़कर सोता हूं।

    अध्यापक (छात्र से)- गाली क्या है?
    छात्र (अध्यापक से)- क्रोध के समय मुख से निकले अशुद्ध शब्दों का समूह जिनके उच्चारण के पश्चात व्यक्ति के हृदय को शान्ति का अनुभव होता है।

    ड्राइवर- मैंने कार की हेडलाइट ऑन करके बताया था कि पहले मुझे निकलने दो।
    संता- हमने भी तो वाइपर चला कर बताया था कि ना काके ना..

    अध्यापक (छात्र से)- बताओ पंखा मेल है या फीमेल?
    छात्र (अध्यापक)- अगर खेतान का है तो मेल और उषा का है तो फीमेल होगा।

    ReplyDelete
  50. अगर 25 रुपये में पाव भाजी मिलती है तो 100 रुपये में क्या मिलेगा..?
    संता- पूरी भाजी..

    पत्नी (पति से)- जब भी मैं तुम्हारे पास आती हूं तो तुम चश्मा क्यों पहन लेते हो।
    पति (पत्नी से)- डॉक्टर ने कहा था जब भी सिरदर्द आए चश्मा पहन लेना।

    अध्यापिका (चिंटू से)- तुम लोग रोज 8 घंटे सोया करो।
    चिंटू (अध्यापिका से)- लेकिन सर! स्कूल तो सिर्फ 6 घंटे का ही होता है।

    ReplyDelete
  51. राकेश- यार मेरे बाल बहुत गिर रहे हैं।
    नीरज- पर कैसे?
    राकेश- टेंशन से।
    नीरज- किस बात की टेंशन?
    राकेश- बाल गिरने की।

    अध्यापक- अच्छा इंसान वो ही है जो दूसरों के काम आए।
    छात्र- पर सर परीक्षा के समय में ना आप हमारे काम आते हैं और ना ही किसी और को आने देते हैं।

    संता (बंता से)- आज पार्टी किस खुशी में?
    बंता (संता से)- मेरा स्कूटर खो गया है।
    संता- तो..
    बंता- शुक्र मानो मैं उस पर नही बैठा था वरना मैं भी गुम हो जाता।

    पुलिस (चोर से)- वादा करो आगे से जेब नही काटोगे।
    चोर (पुलिस से)- मैं वादा करता हूं, अब आगे से नही पीछे से जेब काटूंगा।

    ReplyDelete
  52. एक औरत कोमा में चली गयी..
    पति मुर्दा समझ कर जलाने चला..
    रास्ते में अर्थी खंबे से टकराने से औरत को होश आ गया..
    1 साल बाद औरत सच में मर गयी..
    सब लोग राम-राम सत्य है बोलते जा रहे थे लेकिन पति की जुबान पर एक ही बात थी खंबा बचा के.

    डॉक्टर- आपकी एक किडनी फेल हो गयी है..
    रामू- पहले तो बहुत रोया फिर आंसू पोछते हुए बोला कितने नंबर से।

    संता- ये नया मोबाइल कब लिया?
    बंता- लिया नहीं.. गर्लफ्रेंड का उठाया है।
    संता- क्यों?
    बंता- वो रोज कहती है कि तुम मेरा फोन नही उठाते..
    आज मौका देखकर उठा लिया।

    ReplyDelete
  53. छोटू ने ब्लेड से गर्लफ्रेंड का नाम अपने हाथ पर लिखा और 5 मिनट बाद जोर-जोर से रोने लगा, उसका दोस्त- क्यों रो रहे हो?
    छोटू- अबे, पुरानी वाली का नाम लिख दिया..

    संता (बंता से)- यार मैंने अपनी गर्ल फ्रेंड को गिफ्ट देना है, क्या दूं?
    बंता (संता से)- गोल्ड रिंग दे दे.
    संता- कोई बड़ी चीज बता।
    बंता- फिर एमआरएफ का टायर दे दे।

    मार्केट में घूमते हुए संता एक खूबसूरत लड़की से टकरा गया।
    संता- क्या मैं आपसे थोड़ी देर बात कर सकता हूं?
    लड़की- पर मैं तो आपको जानती भी नहीं हूं !!
    संता- तो मैं कौन सा आपको जानता हूं, वो मेरी बीवी प्रीतो कहीं खो गई है।
    लड़की- तो इसमें मैं क्या कर सकती हूं?
    संता- दरअसल, जब भी मैं किसी सुंदर लड़की से बात करता हूं तो वो पता नहीं कहां से आ जाती है।

    ReplyDelete
  54. Revised fresh case 15 in process and ours is unlisted 6th

    ReplyDelete
  55. एक लड़की अपने दोस्त के साथ घर पहुंची।
    बेटी- मम्मी यह मेरा दोस्त है।
    मम्मी- हमने दुनिया देखी है बेटा, 2 लीटर पेट्रोल जलाकर घर आने वाला सिर्फ दोस्त नहीं होता!!!

    पत्नी (पति से)- अजी, यह जो आप पैंट बार-बार ऊपर खींचते हो, वह बहुत बुरा लगता है।
    पति (पत्नी से)- मेरा खयाल है अगर मैं पैंट ऊपर न खींचूं तो और भी बुरा लगेगा।

    प्रेमी (जौहरी से)- आप इस खूबसूरत और कीमती अंगूठी पर लिखवा दें, मेरे दिल की रानी शांति के लिये!
    जौहरी- मेरे ख्याल से आप इस पर सिर्फ मेरे दिल की रानी के लिये लिखवायें! फिर यह कभी बेकार नहीं होगी और बाद में भी इस्तेमाल कर सकेंगे।

    पप्पू की मां की तबियत खराब हो गई, वह अपनी मां को लेकर अस्पताल गया।
    डॉक्टर - इनके कुछ टेस्ट होंगे।
    पप्पू- हे भगवान, अब क्या होगा मेरी मां तो अनपढ़ है।

    पत्नी (पति से)- आज रामायण के पाठ में पंडितजी ने बताया कि रामराज में शेर और बकरी एक ही घाट पर पानी पिया करते थे, यह भला कैसे हो सकता है?
    पति (पत्नी से)- हो क्यों नहीं सकता, क्या मैं तुम्हारे साथ नहीं रहता?

    पापा- बेटा, अमेरिका में 15 साल के बच्चे भी अपने पैरों पर खडे़ हो जाते हैं।
    बेटा- लेकिन पापा भारत में तो एक साल का बच्चा भागने भी लगता है !!

    पति- अगर मुझे कुछ हो गया तो क्या तुम तुरंत शादी कर लोगी?
    पत्नी- आप भी ना कैसी बात करते हो, 2-3 महीने तो रुकना ही पड़ेगा वरना लोग क्या कहेंगे !!!

    ReplyDelete
  56. एक बार इंडियन एयरवेज अपने जहाज को कलर करवाने का ठेका देना चाहती थी। तीन युवक सामने आये। एक ने कहा कि मैं इसे रंगने के 5 लाख रूपये लूंगा दूसरे ने कहा कि मैं इसे रंगने के 4 लाख रूपये लूंगा।
    तब हमारे संता सिंह आए। उन्होंने जहाज को आगे पीछे से देखा और बोले मैं इसे रंगने के सिर्फ 5 सौ रूपये लूंगा।
    तब एयरवेज के मैनेजर बोले कि तुम इतने कम में कैसे रंग करोगे। तब संता सिंह बोले ये दोनों तो बेवकूफ है जब हवाई जहाज आसमान में चला जाता है तब छोटा हो जाता है मैं सीढ़ी लगाकर कलर कर दूंगा।

    एक बार संता और पप्पू पार्क में बेठे थे, पप्पू के दिमाग में ना जाने क्या आया और वो संता से बोला-
    पप्पू- पापा, अगर आपको रास्ते में जाते हुए 1000 रुपये और 500 रुपये के नोट पड़े मिले तो आप कौन सा नोट उठाओगे?
    संता- अबे हद है, 1000 रुपये वाला ही उठाऊंगा।
    पप्पू (गुस्से से)- पापा आप तो हो ही बुद्धू, इसीलिए लोग आप पर जोक मारते हैं, आप दोनों भी तो उठा सकते थे।

    बॉस (सेक्रेटरी से)- तुम आज फिर आधे घंटे देर से आयी हो, क्या तुम्हें मालूम नहीं कि यहां पर काम कितने बजे से शुरू होता है?
    सेक्रेटरी- मालूम नहीं सर, जब भी मैं यहां आती हूं तो लोगों को काम करते हुए ही पाती हूं।

    शादी के कुछ दिन बाद संता अपने दोस्त बंता को बता रहा था।
    संता- मेरी बीवी इतना मजाक करती है की क्या बताऊं।
    बंता- कैसे?
    संता- कल मैंने उसकी आंखों पर हाथ रख कर पूछा मैं कौन? तो बोली दूध वाला..

    ReplyDelete
  57. सुनीता- कल मेरा बेटा आ रहा है।
    कविता- लेकिन उसे तो पांच साल की सजा हुई थी।
    सुनीता- हां, लेकिन उसके अच्छे व्यवहार के कारण उसकी सजा का एक साल माफ कर दिया गया है।
    कविता- बहुत अच्छा! भगवान ऐसी औलाद सबको दें।

    एक बूढ़ी औरत फिल्म देखने गई वो कभी 15 मिनट में कभी 20 मिनट में कोल्ड ड्रिंक की कैन में मुंह लगाती और फिर कैन वहीं रख देती।
    पास बैठा लड़का यह देखकर परेशान गया, उसने कैन उठाई और एक बार में ही खाली कर दी और बोला- ऐसे पी जाती है कोल्ड ड्रिंक आंटी जी।
    बुढि़या- लेकिन बेटा तुमसे किसने कहा कि कैन में कोल्ड ड्रिंक थी, मैं तो उसमें पान थूक रही थी।

    एक मोटी औरत डॉक्टर के पास गई और बोली- डॉक्टर आपने तो कहा था कि गेम्स खेलने से मोटापा कम होता है पर मेरा तो बिल्कुल कम नहीं हुआ।
    डॉक्टर- कौन सा खेल खेलती हो?
    मोटी औरत- चिडि़या उड़, तोता उड़..

    ReplyDelete
  58. संता नौकरी के लिए इंटरव्यू देने गया।
    मैनेजर- आपको कितने सालों का तजुर्बा है।
    संता- माफ कीजिएगा सर, सालों का तो नहीं लेकिन तीन सालियों का तजुर्बा जरूर है।

    पति-पत्‍‌नी में लड़ाई हुई। पति ने आत्महत्या करने की सोचकर बाजार से जहर लाकर खा लिया। वो मरे नहीं बीमार हो गए।
    पत्‍‌नी (गुस्से में बोली)- सौ बार कहा है कि चीजें देखकर खरीदा करो पैसे भी गए और जिस काम के लिए लाए वो भी नहीं हुआ।

    एक बार एक आदमी गांव में स्कूटर पर जा रहा था अचानक पेट्रोल खतम हो गया, वहां से संता गुजर रहा था आदमी ने संता से पूछा- सरदार जी आस-पास कोई पेट्रोल पम्प है क्या? मेरे स्कूटर का पेट्रोल खतम हो गया है
    संता दिमाग पर जोर डाल कर कुछ सोच के बोला- इस टाइम कहां पेट्रोल पम्प ढूंढता फिरेगा, रात का टाइम है पानी डाल के ले जा, स्कूटर को क्या पता चलेगा की पानी है या पेट्रोल।

    ReplyDelete
  59. एक लड़का-लड़की एक दूसरे को बहुत चाहते थे, एक दिन लड़की लड़के से बोली।
    लड़की- मेरी मम्मी को तुम बहुत पसंद आये।
    लड़का- कुछ भी हो, मैं शादी तुमसे ही करूंगा, आंटी से कहना मुझे भूल जाये।

    अध्यापक कक्षा में चिंटू से पूछता है।
    अध्यापक- समुन्दर में नींबू का पेड़ हो तो तुम नींबू कैसे तोड़ोगे?
    चिंटू- चिडि़या बनकर।
    अध्यापक- तुझे चिडि़या तेरा बाप बनाएगा?
    चिंटू- समुन्दर में पेड़ आपका बाप लगाएगा?

    बंता संता के घर गया और उसे पट्टियों में लिपटे बैड पर पड़े देखकर चौंक गया और बोला।
    बंता- ये क्या हाल बना रखा है?
    संता- यार, कल 10 लोगों की भीड़ ने मुझे मिलकर पीटा
    बंता- तो तूने फिर क्या किया?
    संता- मैंने उनसे कहा अबे सालो एक-एक करके आओ फिर देखो मैं तुम्हारी कैसे ऐसी तेसी करता हूं।
    बंता- फिर क्या हुआ?
    संता- फिर क्या? सालो ने एक-एक कर के पीटा।

    ReplyDelete
  60. एक पति अपनी पत्‍‌नी का जनाजा ले जा रहा था। जनाजे के आगे एक कुत्ता और पीछे आदमियों की लम्बी लाइन थी।
    एक आदमी ने ये देखा और जब उसकी समझ में न आया की ये क्या चक्कर है तो जाकर पति से पूछा।
    आदमी- भाई साहब ये सब कैसे हुआ?
    पति- ये जो कुत्ता है, इसने काट लिया था आदमी ने कुछ सोचा और बोला- ये कुत्ता एक दिन के लिए उधार में दे दो।
    पति- जरुर, पर पीछे लाइन में लग जाओ।

    एक पिंजरे में कुछ तोते एक तोती को छेड़ रहे थे।
    जबकि दूसरे पिंजरे में एक तोता पूजा और दूसरा तोता नमाज पढ़ रहा था।
    मालिक ने सोचा- कितने नेक तोते हैं, इनके पिंजरे में तोती सुरक्षित रहेगी।
    उसने तोती को नेक तोतों के पिंजरे में डाल दिया।
    तो पूजा करने वाला तोता नमाज पढ़ने वाले तोते से बोला- उठो मिया दुआ कुबूल हो गई।

    पति (पत्नी से)- मेरी कौन-सी बुक तुम्हें सबसे ज्यादा पसंद है?
    पत्नी - चेक बुक

    संता अपने पिता के सामने सिगरेट पी रहा था, लोगों ने कहा कि आप अपने पिता के सामने सिगरेट पी रहे हो?
    संता- वो मेरे पिता हैं, कोई पेट्रोल पम्प नहीं..

    प्रेमी- जान तुम्हारा नाम हाथ पर लिखूं या दिल पर।
    प्रेमिका- इधर-उधर कहा लिखते हो अगर सच्चा प्यार करते हो तो सीधे अपने प्रॉपर्टी के पेपर पर लिखो।

    ReplyDelete
  61. एक जापानी महिला अपनी सहेली के साथ सिंगापुर की सड़कों से गुजर रही थी। तभी एक महिला ने अपने प्रेमी को खिड़की के बाहर धक्का दिया जो नीचे रखे कूड़ेदान में जा गिरा।
    यह देखकर जापानी महिला ने अपनी सहेली से कहा- ये सिंगापुरी महिलाएं बहुत फिजूलखर्च होती हैं।
    वो कैसे? सहेली ने पूछा ।
    अब देखो न! यह आदमी अभी और चार-पांच साल इसके काम आ सकता था।

    2 लड़के, 2 लड़कियों के पीछे पड़े हुए थे।
    तंग आकर लड़कियों ने एक-एक राखी ली और उन दोनों की कलाईयों पर बांध दी।
    एक लड़के ने दूसरे से पूछा-अब क्या करें?
    करना क्या है, तू मेरी बहन को पटा ले, मैं तेरी बहन को पटा लेता हूं!!! दूसरे ने जवाब दिया।

    ReplyDelete
  62. agali sunwahi 6 march jujge saab nahi present thay

    ReplyDelete
  63. agali sunwahi 6 march jujge saab nahi present thay

    ReplyDelete
  64. शिक्षा का अधिकार अधिनियम लागू होने के बाद बेसिक शिक्षा परिषद के स्कूलों में शिक्षक रखने के लिए टीईटी पास करना अनिवार्य कर दिया गया है। उत्तर प्रदेश में अब तक केवल एक बार वर्ष 2011 में टीईटी आयोजित कराई गई। रमाबाई नगर की पुलिस ने टीईटी में धांधली पर तत्कालीन माध्यमिक शिक्षा निदेशक संजय मोहन को गिरफ्तार किया, लेकिन न तो इसकी विभागीय जांच कराई गई और न ही किसी स्वतंत्र जांच एजेंसी से। TO FIR DHANDHLI KE NAM PAR TET KO MATR 83-90 NUMBER KA KHILWAD/KHANAPOORI EXAM KYON BANA DIYA GAYA!!!!!

    ReplyDelete
  65. are baklando kuch nahi hoga tet merit ki baat karate ho yaha watage hi mil jaye wahi bahut he..kyuki tumhari tarah bhi to gunank merit wale bhi supreem court tak jaane ka maaddaa rakhate he
    ?????

    ReplyDelete
  66. tum na khane doge to wo bhi kisi ko na khane denge

    ReplyDelete
  67. unake liye bhi to koi na koi harkauli hoga jarur....

    ReplyDelete

Please do not use abusive/gali comment to hurt anybody OR to any authority. You can use moderated way to express your openion/anger. Express your views Intelligenly, So that Other can take it Seriously.
कृपया ध्यान रखें: अपनी राय देते समय अभद्र शब्द या भाषा का प्रयोग न करें। अभद्र शब्दों या भाषा का इस्तेमाल आपको इस साइट पर राय देने से प्रतिबंधित किए जाने का कारण बन सकता है। टिप्पणी लेखक का व्यक्तिगत विचार है और इसका संपादकीय नीति से कोई संबंध नहीं है। प्रासंगिक टिप्पणियां प्रकाशित की जाएंगी।