/* remove this */ Blogger Widgets /* remove this */

Wednesday, March 13, 2013

UPTET : ALLAHABAD HIGHCOURT DOUBLE BENCH DB JUDGEMENT REGARDING STAY FOR 72825 TEACHERS RECRUITMENT


UPTET : ALLAHABAD HIGHCOURT DOUBLE BENCH DB JUDGEMENT REGARDING STAY FOR 72825 TEACHERS RECRUITMENT


STAY MATTER ALONG WITH OTHER ISSUES TRANSFER TO LARGER BENCH 

SEE HEARING DETAILS - 

HIGH COURT OF JUDICATURE AT ALLAHABAD 

?Court No. - 33 

Case :- SPECIAL APPEAL No. - 150 of 2013 

Petitioner :- Navin Srivastava And Others 
Respondent :- State Of U.P. And Others 
Petitioner Counsel :- Abhishek Srivastava,Shashi Nandan 
Respondent Counsel :- C.S.C.,Bhanu Pratap Singh,C.B.Yadav 

Hon'ble Sushil Harkauli,J. 
Hon'ble Manoj Misra,J. 
From the arguments of the learned counsel appearing on behalf of the parties, it has transpired that in this bunch of appeals the contention of the selected candidates is that Teacher Eligibility Test (TET) should be upheld and for selection/appointment the merit of the candidates should be calculated as per the marks obtained by them in the TET test in accordance with the Rules as were in force at the relevant time. 
It has been pointed out that there is a reference to a larger Bench, which is pending and which involves the question as to whether candidates having certain educational qualifications would also be eligible to be considered for appointment on these very� posts without requirement of undertaking the TET

If, in that reference, it is held that some candidates are entitled to be considered for the appointment, without undertaking the TET, it is obvious that their comparative merit vis-a-vis the present candidates cannot be computed. 
The case in which the reference has been made is writ petition No.12908 of 2013 and the date of making the order of reference by the learned single Judge is 8th March, 2013. 
Therefore, it would appear to be desirable either that the reference is answered first, before taking a decision on this bunch of appeals, or the bunch of appeals are connected and heard along with the reference. 
Let papers of these cases be placed before Hon'ble the Chief Justice for taking such decision in the matter, as he may deem fit. This order will cover Special Appeal Nos.149 of 2013, 152 of 2013, 159 of 2013, 161 of 2013, 205 of 2013, 206 of 2013 and 220 of 2013. 
The affidavits, which have been filed today in the Court by the parties in this bunch of appeals, are taken on record. The interim order will continue till the next date of listing
Order Date :- 12.3.2013. 
Rks. 
(Manoj Misra, J.)������������ (Sushil Harkauli, J.) 



33 comments:

rajveer singh said...

(4 hours ago) Mitro tet neta rat bhar rote rahesubah bahana banaya k c b. yadav har kr full bench me bhej diya.suchto h k a neta keval apni dalali ki dukan chamkane k lia sub kuch kr rahe h.kal meri kucch tet netaio se bat hui to kah rahe the aaj hamari jeet pakki h pr aaj subah muh cchipa rahe the. hasi aaj tb aayi mere ek mitra ne 1.75lakh rs tet me no badvane k lia diya tha to unke 124 no aaye the to lost year unhe sadi k lia 5lakh tk mil raha tha pr unka seyr es samay down ho gya 1lakh tak jo aa gya. O kahnek hum lu

rajveer singh said...

dosto lo mai fir aa gya,subah krib 11.30 pr apna case takeup hua to khare ne rejoinder lgaya jis par judge ne lunch k bad bahas krane ko bole,sam karib 3 bje jaise hi hmlogo ka no aya tet walo k vakil shailendra srivastav,sasin­andan,ashok khare ne bahas krna suru kia lekin jb cb yadav ne bahas krna suru kia to cbyadav ki pratyek point pr dono judge santust dikhe,lekin usi wakt khare ne tete walo ki nischit har kodekhte hue nontet ka mudda uthakr ntet k sath hi jodwa dia ab large bench me faisla hoga.

rajveer singh said...

टीईटी में कुछ और अफसरों पर गाज संभव लखनऊ (ब्यूरो)। शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) 2011 मेंधांधली में कुछ और अफसरों पर गाज गिर सकती है। गुपचुप तरीके से इसकीविभागीय जांच कराने की भी योजना है। इसमें यह पता लगाया जाएगा कि संजय मोहन के साथ धांधली में और कौन-कौन दौषी हैं। तत्कालीन माध्यमिक शिक्षा परिषद की सचिव प्रभाव त्रिपाठी के खिलाफ शिकंजा और कसता जा रहा है। उन्होंने स्पष्टीकरण का जवाब तो दे दिया है लेकिन उच्चाधिकारी उनकी जवाब से संतुष्ट नहीं हैं। विभागीय जानकारों की मानें तो उनके खिलाफ कभी भी कार्रवाई की जा सकती है। गौरतलब है कि शिक्षा का अधिकार अधिनियम लागू होने के बाद शिक्षक बनने के लिए टीईटी पास होना अनिवार्य कर दिया गया है। उत्तर प्रदेश में नवंबर 2011 में टीईटी आयोजित कराई गई। इसे कराने में तत्कालीन माध्यमिक शिक्षा परिषद के निदेशक संजय मोहन और सचिव प्रभात्रिपाठी की महत्वपूर्ण भूमिका थी। गड़बड़ी के आरोप में संजय मोहनको गिरफ्तार कर लिया गया लेकिन प्रभा त्रिपाठी बच गईं। टीईटी में धांधली का खुलासा बसपा शासनकाल में हुआ था और सत्ता बदलने के बाद मामला दब गया। इसकी न तो विभागीय जांच कराई गई और न ही अन्य अधिकारियों के खिलाफ कोई कार्रवाईकी गई। शिक्षा विभाग के उच्चाधिकारी अब चाहते हैं कि टीईटी में धांधली के लिए दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाए 1 hour ago · Like · Follow Post · Report like2 people like this. Rakesh Yadav शिक्षा विभाग के उच्चाधिकारी अब चाहते हैं कि टीईटी में धांधली के लिए दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाए। इसके आधार पर तत्कालीन परिषद की सचिव से स्पष्टीकरण मांगने के साथ विभागीय जांच कराने की तैयारी है। तत्कालीन सचिव ने स्पष्टीकरण तो दे दिया है और उच्चाधिकारियों के समक्ष उपस्थित होकर मौखिक जवाब भी दिया है लेकिन उनके जवाब से विभाग संतुष्ट नहीं है। सूत्रों का कहना है कि इस संबंध में अंदर हीअंदर अन्य अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की तैयारी है। •परीक्षा में गड़बड़ी पर प्रभा त्रिपाठी ने दिया जवाब
{

sunil kumar tiwari sunlkmrr@gmail.com said...

ACCORDING TO LALIT
Good evening frnds...
news se to aap log update rahte hi hai.. fir b kuch btana chahta hu.. ab is bharti me ye kahna ki niras mat hona thoda ajeeb sa lagne laga hai.. lekin fir b hum log sirf aapas me baato ke kuch kar b nhi rahe hai.. mere vichar se ab humara metter ajeeb si condition me pahuch gaya h.. jahan par jo ladai thi wo gayab ho gayi aur kuch naya samne aa raha hai.. hum aapas me accadmc merit tet merit 2011-12 old add new add bas isi me ulje rahte hai... lekin mamla ab sirf TET vs NON TET najar aa raha hai.. kyoki gov apni har neeti me safal ho rahi hai jo chaha wo kiya hai.. lekin agar is baar b gov apni neeti me safal ho jati hai to. ye nuksaan sirf aur sirf tet pass ka hoga.. uski merit kuch b ho.. nakal se pass ho ya dhandhli me samil ho. ya acc supprtr ho ya tet supp.. sab dekhte rah jayege... lekin hum tet pass ko abhi aur himmat rakhni hi hogi.. aur God par viswas par rakhna hoga ki humare sath jo b ho achcha ho.... so.... dosto say only ..... Jai Tet Pass....... varna is kalyug me bina b.ed. aur graduate ki b jai ho sakti hai..... to dosto faith in God... think fine get fine...../ thanks.... aapka ...........Lalit

sunil kumar tiwari sunlkmrr@gmail.com said...

MUSKAN JI PLZ IS ORDER KA HINTI TRANSLATION BHI POST KAREN.

THANX

sunil kumar tiwari sunlkmrr@gmail.com said...

Uptet Tet-Base Raj
Sbhi ko saadar namaskar,
.
Ab mamla T.B. me ja chuka hai. Bhagwan kre T.B. k result ki wait kar rhe kisi bhi praaNi ko tb n ho qki old advt k bhal hone k din thode se aur khisak gye hain aur iski khushi se kisi ko nuksan n ho jaye. T.B. me non-tet ka mudda zyada thode hi thahar payega. N.C.T.E. k anusar prt me without tet teacher ban hi nhi sakte.
.
So old advt zindabad tha, hai aur rahega.

rajveer singh said...

dhandhali ese kahte he ladko seho rahi mang Ayush Srivastava - Upteachers Association UpTA Breaking&Exclusive News** ABHI ABHI ALLAHABAD SE SUCHNA MILI HAI KI FULL BENCH KE LIYE 300000 RUPEES KI REQUIRMENT HAI..ISKE LIYE TET SUPPORTERS KI MEETING CHAL RAHI HAI..IDHAR KHARE NON TET WALON KA BHI WAKEEL BAN GAYA HAI FULL BENCH ME.

rajveer singh said...

}
(5 hours ago) JARA NAJAR EDHAR BHI DALO टेटमेरिट तीन लोग जो टेट मेरिट वालो का रु हजम कर लिये हैँ आनन्द त्रिपाठी 96000 हजार शलभ त्रिपाठी 63000 हजार ऐश ठाकुर ऐश 110000 हजार कुल 269000 रु के लिये आज ईलाहाबाद मे घमासान ..OK.
{Mozilla} {

rajveer singh said...

टीईटी में कुछ और अफसरों पर गाज संभव लखनऊ (ब्यूरो)। शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) 2011 मेंधांधली में कुछ और अफसरों पर गाज गिर सकती है। गुपचुप तरीके से इसकीविभागीय जांच कराने की भी योजना है। इसमें यह पता लगाया जाएगा कि संजय मोहन के साथ धांधली में और कौन-कौन दौषी हैं। तत्कालीन माध्यमिक शिक्षा परिषद की सचिव प्रभाव त्रिपाठी के खिलाफ शिकंजा और कसता जा रहा है। उन्होंने स्पष्टीकरण का जवाब तो दे दिया है लेकिन उच्चाधिकारी उनकी जवाब से संतुष्ट नहीं हैं। विभागीय जानकारों की मानें तो उनके खिलाफ कभी भी कार्रवाई की जा सकती है। गौरतलब है कि शिक्षा का अधिकार अधिनियम लागू होने के बाद शिक्षक बनने के लिए टीईटी पास होना अनिवार्य कर दिया गया है। उत्तर प्रदेश में नवंबर 2011 में टीईटी आयोजित कराई गई। इसे कराने में तत्कालीन माध्यमिक शिक्षा परिषद के निदेशक संजय मोहन और सचिव प्रभात्रिपाठी की महत्वपूर्ण भूमिका थी। गड़बड़ी के आरोप में संजय मोहनको गिरफ्तार कर लिया गया लेकिन प्रभा त्रिपाठी बच गईं। टीईटी में धांधली का खुलासा बसपा शासनकाल में हुआ था और सत्ता बदलने के बाद मामला दब गया। इसकी न तो विभागीय जांच कराई गई और न ही अन्य अधिकारियों के खिलाफ कोई कार्रवाईकी गई। शिक्षा विभाग के उच्चाधिकारी अब चाहते हैं कि टीईटी में धांधली के लिए दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाए 1 hour ago · Like · Follow Post · Report like2 people like this. Rakesh Yadav शिक्षा विभाग के उच्चाधिकारी अब चाहते हैं कि टीईटी में धांधली के लिए दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाए। इसके आधार पर तत्कालीन परिषद की सचिव से स्पष्टीकरण मांगने के साथ विभागीय जांच कराने की तैयारी है। तत्कालीन सचिव ने स्पष्टीकरण तो दे दिया है और उच्चाधिकारियों के समक्ष उपस्थित होकर मौखिक जवाब भी दिया है लेकिन उनके जवाब से विभाग संतुष्ट नहीं है। सूत्रों का कहना है कि इस संबंध में अंदर हीअंदर अन्य अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की तैयारी है। •परीक्षा में गड़बड़ी पर प्रभा त्रिपाठी ने दिया जवाब
{

sunil kumar tiwari sunlkmrr@gmail.com said...

जैसा कि जज्मेँट आर्डर से स्पष्ट हो रहा है
कि कल की बहँस का परिणाम 1 पक्ष मेँ था,
और माननीय हरकौली महोदय जी के कथनानुसार
"टेट मेरिट से भर्ती करना विचार योग्य है,
किन्तु बिना टेट का मामला पूर्वत हीँ वृहद
न्यायालय मे सँलग्न है, अत: इस मामले
को सँज्ञान मे लेते हुये, वृहद न्यायालय मेँ
हस्तानाँतरित किया जाता है"

sunil kumar tiwari sunlkmrr@gmail.com said...

@BHAI RAJVEER JI,

DOOSRON K BARE ME ITNA TENTION MAT LO AUR THODA MEHNAT KARO YAKEEN MANIYE ABKI BAAR APP TET JROOR PAS HONGE.

GOD BLESS U

rajveer singh said...

Kal UPTET DHADLEE KI COURT ME DAT HAI AGAR COURT FASLa Sunaya to eska asar bharti ke case par padga or uptet dhadlee ka case bharti ke case ke desha or dasha taye karega. Eska asar bharti par ghara padga.

rajveer singh said...

}
(5 hours ago) JARA NAJAR EDHAR BHI DALO टेटमेरिट तीन लोग जो टेट मेरिट वालो का रु हजम कर लिये हैँ आनन्द त्रिपाठी 96000 हजार शलभ त्रिपाठी 63000 हजार ऐश ठाकुर ऐश 110000 हजार कुल 269000 रु के लिये आज ईलाहाबाद मे घमासान ..OK.
{Mozilla} {

UMADEV said...

Dileep Tiwari
order ke according yei bat clear hai ki agar non tet ka matter larger bench mai na hota to kal tet merit par decision aa gaya hota waise bhi non tet samil nahi ho sakte non tet ko samil karne wale order ki samiksha karne ke liye hi to largeer bench ka gathhan kiya gaya hai most of the judges have accepted the compulsion of tet .non tet ko samil kiya jana d b ka order hai jisko larger bench /s c mai hi dispose kiya ja sakta hai don t worry larger bench mai kewal gehu se bhush hi alag kiya jayega .


9058749811

UMADEV said...

Vinay Pandey
Mere tet suporter sathiyo...bahut se bhaiyo ne khare ki bhumika k bare anek prakar se bate kahi hai ki wo non tet ka vakil hai to hum apko batana chahte hai ki 8 march k A.p.shahi k court no.30 me adarsh bhusan g non tet k wakil the aur aap log khare ke bare me galat na soche..khare g ek sabse achchhe wakil hai aur unki chal sayad apko samajh me na aaye par hamare sangarsh morcha k sadasyo se bat karne k bad ye pta chala hai ki khare ne non tet k mudde ko harkoli g ko awagat karakar ek achchha kam kiya hai kyuki jara sochiye agar kal hum jeet jate to kya gov..fir rajniti karna chhod deti ,nahi chhodati kyuki maya gov. Ka virodh karna hi is gov. Ka main maksad hai..non tet wale matter me sirf do paksh the 1st non tet 2nd gov..aur agar triple bench me hame entry na milta to gov. Jan bujhkar apna paksh kamjor rakhti aur har jati mean gov. Ko tet merit kisi v dasa me manjur karne se bachti aur sabhi 10 lakh b.ed walo ko mauka dekar paise kamati..to bhaiyo triple bench me transfer hona hamare liye fayade ki bat hai.ab hum vaha v ek paksh k rup me hoge aur hamare kul 6 wakil gov. Ko din me tare dikhane k liye bari bari se maujud rahege..khare par anguli uthane se pahle khare ki chal ko samjhe ye hamare liye ek sarahniy kam kiye jise shashinandan g v na samjh paye aur ab sabhi khare ki tarif kar rahe hai..aap apni shanka ka smadhan kare 1 hour hum apke sath is post par bane hai..jai tet

sunil kumar tiwari sunlkmrr@gmail.com said...

आज ही के दिन महात्मा गांधी ने नमक सत्याग्रह आंदोलन की शुरुआत की थी. देश को आजाद करवाने में यह आंदोलन अपना महत्वपूर्ण स्थान रखता हैं. बापू को नमन !!!जय हिन्द जय भारत !!!JAY TET JAY TET MERIT.

gabbar singh said...

order ka hindi anuwad desi bhasha mein---


---------------
WADI KI TARAF SE VIDDWAN COUNSEL KI DALILON SE ,YE MALON HOTA HAI KI CHAYNIT CANDIDATES KA DAWA KI UNKA CHAYAN /NIYUKTI TET MEIN PAYE HUYE ANKO KE AADHAR PAR KI JAI CHAIYE JO KI US SAMAY NIYMO SE PRABHAVIT THA.

##### HIGHER COURT COURT MEIN YE PRASN VICHARADHEEN HAI KI KYA BINA TET PASS ONLY ACD PAR NIYUKTI KI JA SAKTI HAI.

##### yadi bina tet kuch abiyathiyon ka chayan kiya jata hai.tab vartman candidate (tet)sangadit nahi kiye ja sakenge.



-------
atah nirnay lene se pahle vanchniya hai ki nirnay lene se pahle non tet matter ko uttarit kiya jaye ya is case ko usse jod diya jaye.

order- chief Justice ke pas mamla nirnaya ke liye bheja jata hai, jaisa nirnay we uchit samjhen.

---------------

conclusion --- non tet par nirnay vanchniya ( is matter ke liye vanchit visay hai)

court ne na to acd ke pach mein aur na hi tet ke pach mein koi puranumanit faisala soch rakkha hai.






gabbar singh said...

vis-a-vis ---- is ka upyog tulnaatmak samband ko sandarbhit karne ke
liye kiya jata hai.



COMPUTATION---- sangadna( co-calculation)


transpired that ---- malom hona/ gyat hona

contention--- dawa / tark

desirable--- vanchniya

sunil kumar tiwari sunlkmrr@gmail.com said...

ACHHI BAAT YE HAI KI HARKAULI JI NE ACD MERIT KE BARE ME EK SHABD BHI NAHIN KAHA.

gabbar singh said...

mistake-

PAR KI JANI CHAIYE

sunil kumar tiwari sunlkmrr@gmail.com said...

CANDIDATES KA DAWA KI UNKA CHAYAN /NIYUKTI TET MEIN PAYE HUYE ANKO KE AADHAR PAR KI JAI CHAIYE JO KI US SAMAY NIYMO SE PRABHAVIT THA.

UMADEV said...

Rahul Pandey
टीईटी मेरिट के समर्थक हरकौली जी को उनके कार्यो पर शुभकामनाएँ अवश्य दें और 4 फरवरी का आदेश पुनः पढ़ें, और साथ में मनोज मिश्र को भी मुबारकबाद दें कि उन्होने एकल का हर फैसला पलटने में हरकौली जी को शक्तिमान बनाया,इतिहास बन चुका है ताजपोशी बाकी है,30नवम्बर के विज्ञापन का योग्य ही72825में शिक्षक बनेगा,थैंक्यू डीबी,अधिकतम5 शुक्रवारी कार्यदिवस में जीत पक्की है।जो होता है अच्छा होता है,कभी हिम्मत न हारो।

UMADEV said...

कृपया अदालतके मूल आदेश को सन्दर्भ में लें.
धन्यवाद.......

कोर्ट सं - 33
प्रकरण: विशेष अपील नं - 150 /2013
याचिकाकर्ता: - नवीन श्रीवास्तव और अन्य
प्रतिवादी: उत्तर प्रदेश और अन्य
याचिकाकर्ता वकील: - अभिषेक श्रीवास्तव, शशि नंदन
प्रतिवादी वकील: सीएससी, भानु प्रताप सिंह, सी बी यादव
माननीय सुशील हरकौली, जज
माननीय मनोज मिश्रा, जज
याचिकाकर्ता के अधिवक्ताओके तर्क से यह मालूम हुआ किइन सारी अपीलों में
यह विवाद है कि, पुराने विज्ञापन के नियमों के अनुसार अध्यापक पात्रता परीक्षा (TET) में उनके द्वारा प्राप्त अंकों के आधार पर उनका चयन / नियुक्ति होना चाहिए.
यह भी इंगित किया गया कि एकमामला बड़ी पीठ के हवाले किया गया है, जो बिना अध्यापक पात्रता परीक्षा (TET) उत्तीर्ण अभ्यर्थियों को चयन / नियुक्ति देने का है,जिन्होंने केवल कुछ शैक्षिक योग्यताओं (बी.ए.,बी.एड.) को हासिल किया है. ये सवाल पैदा करता है क्या ये अभ्यर्थी पात्र हैं ?
यदि हां, तो उस संदर्भ में, यह माना जाता है कि जिन्होंने अध्यापक पात्रता परीक्षा (TET) उत्तीर्ण किये बिना नियुक्ति के लिए विचार करने की मांग की है , इससे यह स्पष्ट है कि इस प्रक्रिया में वर्तमान मापदंडों में अंतर आ जायेगा. और इसकी गणना नहीं की जा सकती.
इस मामले जो संदर्भ बनाया गया है, याचिका न.. 12908/2013 के सन्दर्भ में, 8 मार्च, 2013 एकल न्यायाधीश द्वारा दिए गए निर्णय जो बड़ी पीठ को हवाले करने का था.
इसलिए, यह वांछनीय है या प्रतीत होता है कि इन सारी याचिकाओं पर निर्णय लेने से पहले, उस केस का उत्तर देना जरुरी लगता है जो माननीय एकल न्यायाधीश ने 8मार्च, 2013 को बड़ी पीठ को निर्णय के लिए संदर्भित किया है. ये सारी याचिकाएं आपस में जुडी हुई हैं.
इन मामलों में निर्णय लेनेसे पहले, मुख्य न्यायाधीश महोदय को सारे
कागजात सौपें. फिर वो जैसा ठीक समझें. यह आदेश विशेष अपील Nos.149/ ­2013,152/ ­2013,159/ ­2013,161/ ­2013,205/ ­2013,206/ ­2013,220/2013, को भी कवर करेगा.
जो हलफनामें , न्यायालय मेंआज इन याचिकाओं में दाखिल किया गएँ हैं,उन्हें भी रिकॉर्ड के तौर पर रखा जाये.
अंतरिम आदेश लिस्टिंग की अगली तारीख तक जारी रहेगा.
आदेश दिनांक: 12/03/2013

rajveer singh said...

टीईटी में कुछ और अफसरों पर गाज संभव लखनऊ (ब्यूरो)। शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) 2011 मेंधांधली में कुछ और अफसरों पर गाज गिर सकती है। गुपचुप तरीके से इसकीविभागीय जांच कराने की भी योजना है। इसमें यह पता लगाया जाएगा कि संजय मोहन के साथ धांधली में और कौन-कौन दौषी हैं। तत्कालीन माध्यमिक शिक्षा परिषद की सचिव प्रभाव त्रिपाठी के खिलाफ शिकंजा और कसता जा रहा है। उन्होंने स्पष्टीकरण का जवाब तो दे दिया है लेकिन उच्चाधिकारी उनकी जवाब से संतुष्ट नहीं हैं। विभागीय जानकारों की मानें तो उनके खिलाफ कभी भी कार्रवाई की जा सकती है। गौरतलब है कि शिक्षा का अधिकार अधिनियम लागू होने के बाद शिक्षक बनने के लिए टीईटी पास होना अनिवार्य कर दिया गया है। उत्तर प्रदेश में नवंबर 2011 में टीईटी आयोजित कराई गई। इसे कराने में तत्कालीन माध्यमिक शिक्षा परिषद के निदेशक संजय मोहन और सचिव प्रभात्रिपाठी की महत्वपूर्ण भूमिका थी। गड़बड़ी के आरोप में संजय मोहनको गिरफ्तार कर लिया गया लेकिन प्रभा त्रिपाठी बच गईं। टीईटी में धांधली का खुलासा बसपा शासनकाल में हुआ था और सत्ता बदलने के बाद मामला दब गया। इसकी न तो विभागीय जांच कराई गई और न ही अन्य अधिकारियों के खिलाफ कोई कार्रवाईकी गई। शिक्षा विभाग के उच्चाधिकारी अब चाहते हैं कि टीईटी में धांधली के लिए दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाए 1 hour ago · Like · Follow Post · Report like2 people like this. Rakesh Yadav शिक्षा विभाग के उच्चाधिकारी अब चाहते हैं कि टीईटी में धांधली के लिए दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाए। इसके आधार पर तत्कालीन परिषद की सचिव से स्पष्टीकरण मांगने के साथ विभागीय जांच कराने की तैयारी है। तत्कालीन सचिव ने स्पष्टीकरण तो दे दिया है और उच्चाधिकारियों के समक्ष उपस्थित होकर मौखिक जवाब भी दिया है लेकिन उनके जवाब से विभाग संतुष्ट नहीं है। सूत्रों का कहना है कि इस संबंध में अंदर हीअंदर अन्य अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की तैयारी है। •परीक्षा में गड़बड़ी पर प्रभा त्रिपाठी ने दिया जवाब
{

vishal sonkar said...

Koi bhai btao ,aaj case hai ya ni plz btao

Ajay awasthi said...

Tet merit walo k apni dapli apna rag hai... Agar tet me gadbadi nahi hui to kya sanj mohan jail picnik manane gye hai.... Aur 3 judge se tet merit k ummed to bilkul na kre quki according 2 rule ye possible nhi hai.... So bharti supportaro k liye gud news hai counsling k liye document taiyar rakhe... Stay hatte hi prakiya age badegi.

vishal sonkar said...

Raj veer plz btao aj kuch case h ya ji

rajveer singh said...

}
(5 hours ago) JARA NAJAR EDHAR BHI DALO टेटमेरिट तीन लोग जो टेट मेरिट वालो का रु हजम कर लिये हैँ आनन्द त्रिपाठी 96000 हजार शलभ त्रिपाठी 63000 हजार ऐश ठाकुर ऐश 110000 हजार कुल 269000 रु के लिये आज ईलाहाबाद मे घमासान ..OK.
{Mozilla} {

rajveer singh said...

Aaj UPTET DHADLEE KI COURT ME DAT HAI AGAR COURT FASLa Sunaya to eska asar bharti ke case par padga or uptet dhadlee ka case bharti ke case ke desha or dasha taye karega. Eska asar bharti par ghara padga.

rajveer singh said...

Shakul Gupta यार ये भी बता दो की तीन जजों की बेंच अब क्या फिर से टी इ टी की धांधली की जांच करेगी या ये देखेगी की भर्ती प्रक्रिया बदलने का अधिकार सरकार के पास है या नहीं या ये देखेगी की पुराना विज्ञापन रद्द करना सही था या नहीं .......आखिर इतने दिनों से हर्कोली जी कर क्या रहे थे सिलेक्शन बेस पर उनका कोई कमेंट नहीं आया बस समाचार पत्रों में केवल संजय मोहन और तेत की जांच की ही खबरे आई जो कोर्ट में हो रही थी ..............टी इ टी मेरिट वाले भाई लोग क्या आपने अशोक खोत्ते को बताया था की केस क्या है ? क्योंकि हर्कोली जी कुछ निष्कर्ष निकाल ही नहीं पाए और एक साथी को और बुला बैठे ......................जागो ग्राहक जागो केवल समय बर्बाद हो रहा है और कुछ नहीं

RAJ TRIPATHI said...

Agar Non Tet wale patra ho skte hai to 10 Ya 12 walo ko bhi mauka diya jana chahiye. Dhire dhire TET future me pass ho jayenge . Agar ho ske to ye awasar class 8 ke students ko bhi diya jay. Mai approximately 8 class ke 150 Students ko padhata hu. Mera dawa hai ki jis standard ka UP TET ka paper tha usme mera padhaya hua pratyek bachha 100 se km marks nhi layega. Mere khud ke TET me 130 marks hai. To plz pehle class 8 walo ko mauka diya jay. Kyu be Rajbeer Singh. Aa beta 10 din mujhse padh le TET qualify kra dunga.

mantu rai said...

Ye tet to yaar birbal ki khichadi bn chuka hai.
Meri baat mano dosto hum sare mil kr kyo na cort me chale jis din apni date milti hai.
Humare un judge ko v pta chale ki hum sb ye bharti chahte hai na ki date.

mantu rai said...

Kabir das ne such hi kaha hai
kabira es sansar me bhanti bhanti k log kuchh to madh....d hai
kuchh bahute madh....d